नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली के जिस वरिष्ठ पत्रकार राजीव शर्मा को ऑफिशियल सीक्रेट्स ऐक्ट केस में गिरफ्तार किया है, वह चीनी इंटेलिजेंस के अधिकारियों के साथ सीधे संपर्क में था और डोकलाम से गलवान घाटी तक की डिफेंस से संबंधित खुफिया जानकारियां इन अधिकारियों तक सीधा पहुंचा रहा था। चीनी महिला वसंत कुंज में रहती है और उसने अपना ऑफिस महिपालपुर में बनाया हुआ था। सेल के मुताबिक इसी महिला ने शेल कंपनी के जरिए कई बार इन खुफिया जानकारियों के बदले मोटा अमाउंट राजीव शर्मा तक पहुंचाया।

राजीव शर्मा दिल्ली के पीतमपुरा के निवासी है और एक फ्रीलांस जर्नलिस्ट हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, शर्मा के पास रक्षा क्षेत्र से जुड़े कुछ गुप्त दस्तावेज बरामद हुए थे। मामले की जांच अभी जारी है और अभी विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिलहाल शर्मा को 6 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया है।

बताया जा रहा है कि शर्मा यूनाइटेड न्यूज ऑफ इंडिया, द ट्रिब्यून, फ्री प्रेस जर्नल, साकाल और अन्य तमाम अखबारों और मीडिया संस्थानों के लिए काम कर चुके हैं। शर्मा को 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था और अगले ही दिन उन्हें मैजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था। मैजिस्ट्रेट ने उन्हें 6 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया था।