अमेरिका में राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतने वाले डेमोक्रैट जो बाइडेन ने खुद को कोरोना वायरस का टीका लगवा लिया है और ट्विटर पर इसके बारे में घोषणा की है। जो बाइडेन ने कोरोना की वैक्सीन के लिए वैज्ञानिकों का धन्यवाद किया है और साथ में अमेरिकी जनता से कहा है कि फिलहाल घबराने की जरूरत नहीं है और जैसे ही वैक्सीन उपलब्ध होगी सभी को मुहैया कराई जाएगी। बाइडेन अगले महीने राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रंप को हराया है।

जो बाइडेन की उम्र 78 वर्ष है और वह अमेरिका के उन लोगों में आते हैं जो कोरोना को लेकर हाई रिस्क में हैं। जो बाइडेन को फाइजर की ओर से विकसित कोरोना की वैक्सीन की डोज दी गई है। अमेरिका में फाइजर की कोरोना वैक्सीन को आधिकारिक मंजूरी मिली है। कोरोना वैक्सीन को लेकर अमेरिकी जनता के बीच विश्वास बढ़ाने के लिए बाइडेन ने एक लाइव टेलिविजन कार्यक्रम में कोरोना का टीका लगवाया है।

क्रिस्टियाना केयर अस्पताल में नर्स और कर्मचारी स्वास्थ्य सेवाओं की प्रमुख ताबा मासा ने बाइडन को टीका लगाया। बाइडन ने ट्वीट किया, ‘‘आज मैंने कोविड-19 का टीका लगवाया। उन वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं को शुक्रिया, जिन्होंने इसे संभव बनाने के लिए अथक मेहनत की। इसके लिए हम सभी आपके आभारी रहेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिकी लोग यह जान लें कि चिंता की कोई बात नहीं है। मैं आपसे अपील करता हूं कि जब भी टीका उपलब्ध हो, आप इसे लगवाएं।’’ बाइडन के टीकाकरण के बाद नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने ट्वीट किया, ‘‘एक नेता को ऐसे ही काम करना चाहिए।’’ कमला हैरिस अगले सप्ताह सार्वजनिक रूप से टीका लगवाएंगी।

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की वजह से सबसे ज्यादा तबाही अमेरिका में ही हुई है, अमेरिका में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 1.84 करोड़ तक पहुंच गए हैं और अबतक वहां पर 3.26 लाख से ज्यादा लोगों की कोरोना की वजह से जान चली गई है। अमेरिका में रोजाना कोरोना के 2-3 लाख मामले सामने आ रहे हैं और 3 हजार लोगों की मौत हो रही है। माना जाता है कि अमेरिका में कोरोना का बेकाबू होना डोनाल्ड ट्रंप की हार का सबसे बड़ा कारण रहा है।