JEE – NEET पर विरोध जारी:परीक्षा का विरोध कर रहे स्टूडेंट्स के समर्थन में आगे आई ग्रेटा थनबर्ग, कोरोना के बीच परीक्षा के आयोजन को बताया अनुचितप

  1.  परीक्षाका विरोध करते हुए करीब चार हजार     स्टूडेंट्स ने की एक दिन की भूख हड़ताल
  2. मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी ने सरकार से सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर रीव्यू पीटीशन दायर करने की अपील
  3. नीटऔर जेईई परीक्षा को स्थगित करने की मांग कर रहे स्टूडेंट्स के समर्थन में राजनेताओं के बाद अब क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग भी सामने आ गई हैं। स्टूडेंट्स का सपोर्ट करते हुए उन्होंने ट्वीट कर कोरोना संक्रमण के दौरान नीट-जेईई के आयोजन को अनुचित बताया है। ग्रेटा ने कहा कि वह भारत में नीट और जेईई परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहे छात्रों के साथ खड़ी हैं। वैश्विक कोरोना महामारी के दौरान स्टूडेंट्स को परीक्षा में बैठने के लिए कहना गलत है। इससे पहले परीक्षा का विरोध करते हुए करीब चार हजार स्टूडेंट्स ने एक दिन की भूख हड़ताल भी की थी।
  • ममता बैनर्जी और नवीन पटनायक ने भी की मांग

    वहीं, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को पत्र लिखकर सितंबर में होने वाली जेईई और नीट की परीक्षा को स्थगित करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि वैश्विक कोरोना महामारी के माहौल में छात्रों का परीक्षा केंद्रों तक जाना असुरक्षित होगा। इसके अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी ने भी केंद्र सरकार को पत्र लिखकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर रीव्यू पीटीशन दायर करने की अपील की है।

    जेईई मेन के लिए जारी एडमिट कार्ड

    दूसरी तरफ, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी जेईई मेन और नीट के आयोजन के लिए पूरी तरह से तैयार है। मेडिकल कोर्सेस में एडमिशन के लिए होने वाले नीट का आयोजन 13 सितंबर को होना है, जबकि इंजीनियरिंग में एडमिशन के लिए होने वाले जेईई मेन का आयोजन एक सितंबर से छह सितंबर तक आयोजित होगा। एजेंसी ने जेईई के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं। वहीं, नीट के लिए परीक्षा केंद्रों के शहरों के नाम जारी कर दिए गए हैं। जल्द ही एडमिट कार्ड भी जारी किया जाएगा।