कोरोना को हराने के लिए जम्मू कश्मीर में प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लागू कर दिया है. इस कर्फ्यू के दौरान जम्मू के बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है. सुरक्षा बल इस कर्फ्यू को सख्ती से लागू करने के लिए सड़कों पर तैनात हैं.

जम्मू में कोरोना को मात देने के लिए गुरुवार शाम 7 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक करोना कर्फ्यू लगा दिया गया है. इस कर्फ्यू को सख्ती से लागू करने के लिए सड़कों पर सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है. जम्मू में इमरजेंसी सेवाओं को छोड़ सभी दुकानें पूरी तरह से बंद है और बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है.

कर्फ्यू के दौरान इमरजेंसी और जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को बाहर निकलने की होगी इजाजत

जम्मू के ऐतिहासिक रघुनाथ बाजार के दृश्य हो या फिर दूसरे बड़े बाजारों के सब जगह की तस्वीर एक जैसी है. सभी बाजारों में दुकानें बंद है और आवाजाही लगभग ना के बराबर है. जम्मू कश्मीर सरकार ने इस आदेश में कहा था कि इस कर्फ्यू के दौरान इमरजेंसी और जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को आने-जाने की इजाजत होगी जिसके लिए अब पुलिस शहर में वाहनों पर सफर कर रहे हर यात्री का आईडेंटिटी कार्ड चेक कर रहे हैं.

इसके साथ ही पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेडिंग भी कर रखी है ताकि फ़ुज़ूल में घर से बाहर निकलने वाले लोगों पर पाबंदी लगा दी जाए. गौरतलब है कि इस कर्फ्यू के दौरान जहां इमरजेंसी और जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को आने जाने की छूट है. वहीं, करोना के लिए टीकाकरण केंद्र रोहतक जा रहे लोगों को भी छूट मिली हुई है.