महाराष्ट्र फोन टैपिंग मामले में आईपीएस रश्मि शुक्ला को आज महाराष्ट्र पुलिस के साइबर सेल ने पूछताछ के लिए बुलाया था. लेकिन रश्मि शुक्ला ने साइबर सेल को कोरोना संकट का हवाला देकर आज मुंबई आकर बयान देने में असमर्थता दिखाई.

रश्मि शुक्ला ने साइबर सेल मुंबई एसीपी दफ्तर को अपने समन का जवाब देते हुए लिखा है कि उनका काम बहुत सीरियस है, इसलिए अभी वह इस संकट की घड़ी में अपना काम छोड़कर नहीं आ सकती. साथ ही शुक्ला ने साइबर सेल से प्रश्नावली भी मांगी है कि उनसे क्या सवाल पूछे जाने हैं और एफआईआर की कॉपी भी मांगी है.

क्या है मामला

रश्मि शुक्ला ने आईपीएस अधिकारियों और महाराष्ट्र पुलिस के आला अफसरों की ट्रांसफर और पोस्टिंग को लेकर बड़े घोटाले का खुलासा किया था. ये खुलासा तब किया था जब वो इंटेलिजेंस विंग की कमिश्नर थी और इस मामले में रश्मि शुक्ला ने 3 दर्जन से ज्यादा लोगों के फोन टेप करवाए थे जिसमें कई आईपीएस और होम मिनिस्टर दफ्तर के अधिकारी थी. ये रिपोर्ट रश्मि शुक्ला ने तत्कालीन डीजीपी सुबोध जैसवल को दी थी और जैसवल इस रिपोर्ट पर कार्यवाही करने के लिए तत्कालीन होम सेकेट्री सीताराम कुण्ठे को भेजी थी.

बाद में इसी रिपोर्ट को पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने आधार बनाकर शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी सरकार पर बड़ा हमला बोला था और ये ऑडियो टेप केंद्रीय गृह मंत्रालय के सचिव को सौंप दी थी. मुंबई पुलिस ने इस मामले में एक एफआईआर दर्ज की और मामले की जांच साइबर सेल को सौंप दी थी. अब साइबर सेल एक नया समन रश्मि शुक्ला को भेजेगी.