इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन का आगाज इस साल भले ही देर से हुआ हो लेकिन पहले ही हफ्ते में फैंस को भरपूर एक्शन देखने को मिला। UAE के तीन शहरों- अबू धाबी, दुबई और शारजाह में खेले जा रहे IPL 2020 में धोनी की वापसी टूर्नामेंट का सबसे बड़ा पल रहा। धोनी के कमबैक मोमेंट का फैंस पिछले 14 महीनों से बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। इसके अलावा टूर्नामेंट का पहला हफ्ता कई मजेदार और शानदार पलों का गवाह बना। आइए एक नजर डालते हैं इंडियन प्रीमियर लीग के पहले सप्ताह के कुछ शानदार मोमेंट्स पर……

धोनी के कमबैक से ज्यादा उनके DRS की चर्चा

IPL 2020 का आगाज दो सबसे सफल टीमों मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के मैच के साथ हुआ जिसमें महेंद्र सिंह धोनी सभी के आकर्षण का केंद्र रहे। धोनी ने इस मैच के जरिए 1 साल से भी ज्यादा समय के बाद क्रिकेट में वापसी की। हालांकि इस मैच में धोनी को वो चमक नहीं दिखाई दी जिसके लिए वह जाने जाते हैं। दरअसल, मुंबई के खिलाफ पहले मैच में पीयूष चावला के एक ओवर में धोनी ने डीआरएस लिया जो गलत साबित हुआ। इसके बाद सोशल मीडिया पर धोनी के डीआरएस लेने की काबिलियत पर सवाल उठने लगे। बता दें, धोनी डीआरएस के मास्टर जाने जाते हैं और क्रिकेट में कई लोग डीआरएस को ‘धोनी रिव्यू सिस्टम कहते हैं। पहले मैच में असफल होने के बाद धोनी तीसरे मैच में भी डीआरएस के मामलें में उस समय चूक गए जब पृथ्वी शॉ के बल्ले का किनारा लेकर गेंद उनके दस्तानों में चली गई। इस तरह IPL 2020 का पहला हफ्ता धोनी के कमबैक से ज्यादा उनके फेल डीआरएस की वजह से ज्यादा चर्चा में रहा।

केएल राहुल का शानदार शतक

IPL 2020 में दिल्ली कैपिटल्स के हाथों सुपर ओवर में पहला मैच गंवाने वाली किंग्स इलेवन पंजाब ने दूसरे ओवर में दिखा दिया कि वो इस बार टूर्नामेंट जीतने के मकसद से UAE पहुंची है। दूसरे मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने शानदार अंदाज में वापसी करते हुए कोहली की टीम RCB के खिलाफ नाबाद 132 रन की पारी खेली और रिकॉड्स की झड़ी लगा दी। इस मैच में राहुल ने न केवल पंजाब की ओर से बतौर कप्तान और इस सीजन का पहला शतक जड़ा बल्कि IPL में कप्तान के रुप में सर्वोच्च स्कोर का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया। राहुल ने अपनी इस बेहतरीन शतकीय पारी में 14 चौके और 7 छक्के जड़े जिनकी बदौलत पंजाब की टीम कोहली एंड कंपनी पर 97 रनों से जीत दर्ज करने में सफल रही।

सुपर ओवर का रोमांच

इंडियन प्रीमियर लीग 2020 का आगाज होने से पहले शायद ही किसी नो सोचा होगा कि सुपर ओवर का रोमांच दर्शकों को टूर्नामेंट के दूसरे ही मैच में देखने को मिल जाएगा। इस सीजन का दूसरा मैच दिल्ली कैपिटल्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेला गया जिसका नतीजा सुपर ओवर के जरिए निकला। हालांकि ये मैच खराब अंपायरिंग के लिए भी चर्चा में रहा। दरअसल, 19वें ओवर में फील्ड अंपायर नितिन मेनन ने क्रिस जोर्डन के एक रन को शॉर्ट रन करार दिया था जबकि रिप्ले में जार्डन का बल्ला क्रीज के अंदर नजर आ रहा था। इस शॉर्ट रन का नतीजा ये हुआ कि मैच आखिर में सुपर ओवर में गया जहां दिल्ली ने रबाडा की शानदार गेंदबाजी के दम पर सिर्फ 2 रन दिए और मैच अपनी झोली में डाल लिया। इसी के साथ IPL के इतिहास में सुपर ओवर में सबसे कम रन दिए जाने का रिकॉर्ड बन गया।

तेज गेंदबाजों की पिटाई 

इस सीजन के पहले हफ्ते में ही गेंदबाजों ने आखिरी ओवरों मे सबसे रन लुटाने के रिकॉड अपने नाम किए। किंग्स इलेवन पंजाब के क्रिस जॉर्डन और चेन्नई सुपर किंग्स के लुंगी एंगिडी ने 20वें ओवर में 30-30 रन लुटा दिए। इस तरह दोनों गेंदबाज संयुक्त रुप से IPL के इतिहास में आखिरी ओवरों में सबसे ज्यादा रन लुटाने वाले गेंदबाज बन गए। क्रिस जॉर्डन ने दिल्ली के खिलाफ ये शर्मनाक रिकॉर्ड बनाया जबकि एंगिडी ने राजस्थान के खिलाफ ये खराब रिकॉर्ड अपने नाम किया।

कोहली के हाथों से कैचों का टपकना

इस सीजन के पहले हफ्ते में वो मंजर देखने को मिला जो शायद ही इससे पहले कभी किसी ने देखा हो। दरअसल, किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैच में RCB के कप्तान और दुनिया के शानदार फील्डरों में शुमार विराट कोहली ने केएल राहुल के दो कैच टपका दिए जिसका खामियाजा उन्हें हार के रुप में चुकाना पड़ा। कोहली ने पहला कैच तब छोड़ा जब राहुल 83 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे और दूसरा कैच तब टपकाया जब वह 89 के स्कोर पर थे। राहुल ने इन दो मौकों का पूरा फायदा उठाते हुए नाबाद 132 रन जड़ दिए।