IPL 2021: कीरोन पोलार्ड दिल्ली की पारी का 10वां ओवर फेंक रहे थे. जब वह ओवर की दूसरी गेंद कर रहे थे, तो उन्होंने देखा कि धवन रन लेने की कोशिश में गेंद डालने से पहले ही क्रीज से बाहर निकल गए.

चेन्नई: दिल्ली कैपिटल्स (DC) और मुंबई इंडियंस (MI) के बीच मंगलवार को चेन्नई में खेले गए IPL 2021 के मैच में बड़ा विवाद होने से बच गया. दरअसल, मुंबई इंडियंस के गेंदबाज कीरोन पोलार्ड (Kieron Pollard) ने दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाज शिखर धवन को ‘मांकड़िंग’ की चेतावनी दी.

क्या था पूरा मामला?

दरअसल, दिल्ली कैपिटल्स की बल्लेबाजी के दौरान मुंबई इंडियंस के गेंदबाज कीरोन पोलार्ड दिल्ली की पारी का 10वां ओवर फेंक रहे थे. जब वह ओवर की दूसरी गेंद कर रहे थे, तो उन्होंने देखा कि दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाज शिखर धवन रन लेने की कोशिश में गेंद डालने से पहले ही क्रीज से बाहर निकल गए.

पोलार्ड ने धवन को दी वॉर्निंग

कीरोन पोलार्ड इसके बाद रुककर धवन को क्रीज में रहने की वॉर्निंग दे रहे थे. कीरोन पोलार्ड ने धवन को मांकडिंग के जरिए आउट करने की वॉर्निंग दी. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर भी काफी शेयर किया जा रहा है.

‘मांकडिंग’ को लेकर IPL 2019 में भी विवाद खड़ा हो गया था. जब किंग्स इलेवन पंजाब के तत्कालीन कप्तान रहे रविचंद्रन अश्विन का राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाज जोस बटलर को मांकड़ करने का विवाद सुर्खियों में रहा था.

क्या होती है Mankading?

पूर्व भारतीय स्पिनर वीनू मांकड़ के नाम पर पड़ा यह आउट करने का तरीका क्रिकेट के नियमों के अतंर्गत है, लेकिन कुछ इसे खेल भावना के खिलाफ मानते हैं. वीनू मांकड़ ने 1947 में इसी तरीके से ऑस्ट्रेलिया के बिल ब्राउन को आउट किया था. मैच में दूसरे छोर पर खड़ा बल्लेबाज अगर गेंदबाज के हाथ से गेंद छूटने से पहले क्रीज से बाहर निकल आए तो उसे रन आउट करने को Mankading कहते हैं.  भारतीयों में कपिल देव ने दक्षिण अफ्रीका के पीटर कर्स्टन को 1992-93 की सीरीज के दौरान Mankading से आउट किया था. वहीं, घरेलू क्रिकेट में स्पिनर मुरली कार्तिक ने बंगाल के संदीपन दास को रणजी ट्रॉफी मैच में इसी तरह से आउट किया था.