इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का दूसरा हिस्सा सितंबर-अक्टूबर में यूएई में खेला जाना है. 14वें सीजन में 31 मैचों का आयोजन होना बाकी है. लेकिन ऐसी खबरें सामने आ रही हैं कि इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के कई बड़े खिलाड़ी बाकी बचे 31 मैचों से बाहर रहेंगे. ऐसे खिलाड़ियों के खिलाफ बीसीसीआई ने कड़ा कदम उठाने की तैयारी कर ली है. बीसीसीआई फ्रेंचाइजी को बाकी मैच नहीं खेलने वाले खिलाड़ियों की सैलरी काटने का अधिकार देगा.

अब तक जो जानकारी सामने आई है उससे मुताबिक पैट कमिंस, ट्रेंट बोल्ट, केन विलियमसन ने आईपीएल के बाकी बचे मैचों में नहीं खेलने का फैसला किया है. इसके अलावा इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने पहले ही साफ कर दिया है कि वह आईपीएल सीजन 14 के दूसरे हिस्से में अपने खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति नहीं देगा.

इनसाइड स्पोर्ट्स की रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई ने जानकारी दी है कि जो विदेशी खिलाड़ी आईपीएल 14 के बाकी बचे मैच नहीं खेलेंगे उन्हें प्रो-राटा के आधार पर पैसा दिया जाएगा.  फ्रेंचाइजी खिलाड़ियों को 3 या 4 किस्त में सलाना कॉन्ट्रैक्ट की राशि देती है. लेकिन अब जो खिलाड़ी जितने मैचों से बाहर रहेंगे उसी हिसाब से उनके पैसे में कटौती हो जाएगी.

कमिंस को झेलना पड़ सकता है भारी नुकसान

उदाहरण के तौर पर कमिंस को लिया जाए तो उन्हें कोलकाता नाइटराइडर्स ने 2020 की नीलामी में 15.5 करोड़ रुपये की भारी भरकर रकम देकर खरीदा था. इस सीजन में कमिंस ने 7 मुकाबले खेले हैं. अब अगर कमिंस सीजन 14 के दूसरे हिस्से में नहीं खेलते हैं तो उन्हें करीब 8 करोड़ रुपये का नुकसान झेलना पड़ सकता है.

बीसीसीआई के लिए भी हालांकि इस कड़े फैसले के बावजूद मुश्किलें आसान नहीं होने वाली है. इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया समेत करीब 40 विदेशी खिलाड़ी ऐसे हैं जो कि आईपीएल 14 के दूसरे हिस्से से बाहर रह सकते हैं. इन खिलाड़ियों के बाहर रहने का टीमों पर बहुत बुरा असर पड़ सकता. चूंकि इस लिस्ट में कई बड़े नाम भी शामिल हैं इसलिए लीग के रोमांच में भी कमी आने की आशंका है.