कुलदीप और चहल के प्रदर्शन में 2019 वर्ल्ड कप के बाद से गिरावट आई है. इसका परिणाम ये हुआ कि भारतीय टीम को दोनों में से एक के साथ मैदान में उतरना पड़ रहा था. लेकिन अब लगता है कि इस रणनीति पर भी विराम लगा दिया गया है.

ग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के तीसरे और आखिरी मैच में भारतीय टीम में एक बदलाव किया गया. स्पिनर कुलदीप यादव की जगह बाएं हाथ के तेज गेंदबाज टी नटराजन को टीम में शामिल किया गया. कुलदीप के लिए बीते कुछ मैच अच्छे नहीं रहे, जिसके बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया. 2017 में आयोजित हुई आईसीसी चैम्पियन्स ट्रॉफी के बाद ये पहला मौका है जब भारतीय टीम युजवेंद्र चहल या कुलदीप यादव के बिना मैदान में उतरी.

कुलदीप और चहल के प्रदर्शन में 2019 वर्ल्ड कप के बाद से गिरावट आई है. इसका परिणाम ये हुआ कि भारतीय टीम को दोनों में से एक के साथ मैदान में उतरना पड़ रहा था. लेकिन अब लगता है कि इस रणनीति पर भी विराम लगा दिया गया है. चैम्पियन्स ट्रॉफी के बाद भारतीय टीम ने 80 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले. इन मैचों में कुलदीप या चहल दोनों में से एक टीम का हिस्सा रहे. लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में इन दोनों स्पिनरों को टीम में जगह नहीं मिली.