आगरा, जागरण संवाददाता। नशीली दवाएं और कफ सीरप का अवैध धंधा करने वाले औषधि विभाग की पकड में नहीं आ सके हैं। ऐसे में एलआइयू सक्रिय हो गई है, दवा का अवैध कारोबार करने वालों की सूची तैयार की जा रही है।

पंजाब पुलिस ने बडी मात्रा में नशे के लिए इस्तेमाल होने वाली नारकोटिक्स की दवाएं जब्त की थीं, पंजाब पुलिस ने सगे भाई जितेंद्र अरोडा उर्फ विक्की अरोडा, कपिल अरोडा को गिरफ्तार करने के बाद गोदाम पर छापा मारकर दवाएं जब्त की थीं। इसके बाद 15 अगस्त को आजमगढ से ट्रक से 70 लाख कीमत फेंसेडिल कफ सीरप जब्त किए गए थे, ट्रक चालक ने बताया था कि सिकंदरा क्षेत्र से ट्रक में कफ सीरप रखे जाने की जानकारी दी थी। इसके बाद भी औषधि विभाग की टीम अवैध दवा का धंधा करने वालों को पकड़ नहीं सकी है। इस मामले में स्थानीय एलआइयू भी सक्रिय हो गई है। फव्वारा दवा बाजार में हॉकर और थोक की दुकान पर काम करने वालों ने अवैध धंधे से करोड़ो की संपत्ति जुटा ली है, कई की फव्वारा पर थोक की दुकानें हैं। इनक फेंसेडिल कफ सीरप वाले मामले में भी संलिप्तता की सूचना है।