IIT-Guwahati की रिसर्च टीम ने हवा से पन्नी निकलने के लिए रासायनिक पैटर्न स्लिप्स की अवधारणा ( concept of chemically patterned SLIPS ) का उपयोग किया।
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी , गुवाहाटी की रिसर्च टीम ने ये दवा किया है किया है की उन्होंने हवा से पैन निकलने का तरीका खोज निकला है। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी , गुवाहाटी की रिसर्च टीम ने बताया की जिस आधुनिक तरीके का उपयोग हुआ है उसे हम लोग hydrophobicity के नाम से जानते है। hydrophobicity केमिस्ट्री की एक फिजिकल प्रॉपर्टी है जिसमे मोलेक्युल्स पानी की बॉडी से रेपल
करते है या यू कहु की वाटर बॉडी और मॉलिक्यूल के बीच अट्रैक्शन नहीं होता।
जिस रिसर्च टीम ने ये दवा किया है उस टीम को लिड कर रहे Uttam Manna जो की एक एसोसिएट प्रोफेसर ऑफ़ केमिस्ट्री है, उन्होंने और उनके साथीयो Kousik Maji, Avijit Das and Manideepa Dhar, ने अपनी ये रिसर्च रॉयल सोसाइटी ऑफ़ केमिस्ट्री , IIT-गुवाहाटी मई रिलीज़ की है।
प्रोफेस्सर manna ने कहा की “ऐसी जल-संचयन तकनीक कुछ सामग्रियों की हाइड्रोफोबिसिटी या जल-विकर्षक प्रकृति की अवधारणा का उपयोग करती है। हाइड्रोफोबिसिटी की अवधारणा को कमल के पत्ते को देखकर समझा जा सकता है, “। इतना हे नहीं उन्होंने ये भी बताया
की आईआईटी-गुवाहाटी की शोध टीम ने पहली बार नम हवा से पानी की प्रभावी रूप से कटाई के लिए रासायनिक रूप से तैयार SLIPS की अवधारणा का उपयोग किया है