घुमना फिरना किसे नहीं पसंद , पर कुछ लोगो को ट्रैवेलिंग के टाइम उलटी की समस्या होती है जिसे मोशन सिकनेस कहते हैतो चलिए इसके पीछे की वजह जानते है और रामबाण इलाज भी

सफर मे उल्टी आने को मोशन सिकनेस (Motion Sickness Symptoms) कहते हैं. ध्यान रखें मोशन सिकनेस कोई बीमारी नहीं है बल्कि ये एक ऐसी स्थिति है जब हमारे दिमाग को भीतरी कान, आंख और त्वचा से अलग-अलग सिग्नल मिलते हैं. इसमें सेंट्रल नर्वस सिस्टम कन्फ्यूज हो जाता है. लेकिन अगर आप थोड़ी सावधानी के साथ चलें तो मोशन सिकनेस से निजात पाना बेहद आसान है।

अक्सर लोगों को कार या बस में सफर के दौरान में जी मचलाने और उल्टी (Tips To Prevent Motion Sickness) की शिकायत होती है. कई बार आपको सफर के दौरान न सिर्फ कुछ घंटों बल्कि तीन-चार दिनों तक चक्कर, घबराहट, जी मचलने या उल्टी जैसी समस्याएं (Motion Sickness Symptoms) होती हैं जिसे मोशन सिकनेस कहते हैं. अगर आप भी सफर करने से सिर्फ इसलिए डरते हैं, क्योंकि यात्रा के दौरान आपको उल्टी आती है. तो अब आपको इसके लिए घबराने की जरूरत बिल्कुल नहीं है. क्योंकि हम आपको बता रहे हैं. सफर में उल्टी की समस्या से निजात पाने के लिए ये 5 उपाय अपनाएं. इससे आपको उल्टी नहीं आएगी और आप अपने सफर का भरपूर आनंद ले पाएंगे।

– निम्बू को काटकर, इस पर काली मिर्च और काला नमक छिड़क कर चाटें. इससे आपका मन ठीक रहेगा और उल्टी नहीं आएगी.
– तुलसी के पत्ते चबाने से उल्टी नहीं आएगी. इसके अलावा एक बॉटल में नींबू और पुदीने का रस काला नमक डालकर रखें और सफर के दौरान इसे थोड़ा-थोड़ा पीते रहें।

– लौंग को भूनकर पीस लें और किसी डिब्बी में भरकर रख लें. जब भी सफर पर जा रहे हैं तो इसे साथ ले जाएं. उल्टी जैसा मन हो तो इसे सिर्फ एक चुटकी मात्रा में चीनी या काले नमक के साथ लें और चूसते रहें

– जब भी आप किसी सफर पर निकलें तो अपने साथ एक पका हुआ नींबू जरूर रख लें. जब भी आपका मन मतली सा लगे तो तुरंत इस नींबू को छीलकर सूंघे. इससे आपका मन फ्रेश होगा साथ ही ऐसा करने से उल्टी भी नहीं आएगी।

लोगों में ये मिथ्य है कि खाली पेट सफर करने पर उल्टी नहीं होगी लेकिन, ये बिल्कुल गलत है. अक्सर जो लोग बिना कुछ खाए सफर पर निकल जाते हैं उन्हें मोशन सिकनेस अधिक होता है. लेकिन इसका मतलब यह भी नहीं कि आप बहुत हेवी डाइट लें. घर से हल्की और हेल्दी डाइट लेकर ही निकलें।

अगर आपको सफर के दौरान उल्टी की समस्या होती है तो आप किसी भी बड़े वाहन की पीछे की सीट पर बैठने से परहेज करें. पीछे की सीट पर गति का एहसास अधिक होता है. इसी तरह आप कार में फ्रंट सीट पर ही बैठें।

सफर के दौरान उल्टी की समस्या रहने पर किताब बिल्कुल न पढ़ें। इससे आपके दिमाग को गलत संदेश मिलता है।

अगर आपको ज्यादा दिक्कत हो रही हो तो गाड़ी की खिड़की का शीशा खोल लें और बाहर की ओर मुंह करके बैठें. ताज़ी हवा मिलने से आप अच्छा महसूस करेंगे।