यूरोपियन जर्नल ऑफ इंटरनल मेडिसिन  में प्रकाशित एक स्टडी में पता लगा है की खून में हाई यूरिक एसिड के होने से इंसान की उम्र 11 साल काम होसकी है। यह स्टडी लिमरिक स्कूल ऑफ मेडिसिन के टीम दवारा किया गया है। कई लोगो के यूरिन एवं खून  सैंपल  से यूरिक एसिड कि जानकारी ली गई, जिश्मे चौका देने वाला रिजल्ट सामने आया।

खून में यूरिक एसिड के हाई लेवल से इंसान हृदय रोग (हार्ट डिसीज), स्ट्रोक, डायबिटीज (Heart disease strokes and diabetes), वात रोग (एक प्रकार का गठिया रोग जो यूरिक एसिड क्रिस्टल के बढ़ने से पैदा होता है), पथरी, किडनी फेलियर समेत कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो सकता ह।
यूएल स्कूल ऑफ मेडिसिन बायोस्टैटिस्टिक्स के वरिष्ठ शोधकर्ता डॉ. लियोनार्ड ब्राउन के मुताबिक, ‘यूरिक एसिड के कारण पुरुषों और महिलाओं की मृत्यु दर एक दूसरे से अलग होती है. रिपोर्ट में स्पष्ट कहा गया है कि खून में सीरम यूरिक एसिड (SUA) का 238µmol/L से कम लेवल पुरुषों की उम्र साढ़े 9 साल तक घटा सकता है. जबकि SUA का 535µmol/L से ज्यादा लेवल पुरुषों की उम्र साढ़े 11 साल तक कम कर सकता है.’
महिलाओं के मामले में भी परिणाम कुछ ऐसे ही देखने को मिले हैं. शरीर में सीरम यूरिक एसिड का हाई लेवल (416µmol/L से ज्यादा) सामान्य महिलाओं की तुलना में जिंदगी के 6 साल तक कम कर सकता है।

यूरिक एसिड के मात्रा को खून में से काम कैसे करे?
हेअल्थी फ़ूड , डॉक्टर के दौरा दिए गए दवाइयों को निर्धारित समय पर लेकर, दिन भर खूब पानी पी कर।
हाई यूरिक एसिड की समस्या से झूझ रहे वेक्ति को अपने खाने के प्लान में से  “प्यूरीन ” निकल देना चाहिए। प्यूरीन एक ऐसा केमिकल है जो डाइजेशन के समय यूरिक एसिड कि रूप लेता है। यह पौधे और जानवरो से प्रदान खाने में पाया जाता है।
पालक, मशरूम, रेड मीट, झींगा, टमाटर, मूंग दाल, मसूर की दाल, सोयाबीन और कॉफी कि भी सेवन यूरिक एसिड के मरीज को नहीं करना चाहिए।