दिल्‍ली-एनसीआर में गुरुवार रात लगभग 11.45 मिनट पर भूकंप के तगड़े झटके महसूस किए गए। इससे लोग डरकर घरों से बाहर निकल आए। रिक्‍टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.2 दर्ज की गई। भूकंप के झटके दिल्ली से लेकर नोएडा गाजियाबाद, गुरुग्राम तक महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर सिस्‍मोलॉजी (National Centre for Seismology, NCS) के मुताबिक, भूकंप का केंद्र राजस्‍थान के अलवर जिले में था जिसके झटके दिल्‍ली एनसीआर के इलाकों तक महसूस किए गए।

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, राजस्‍थान के अलवर में आया यह भूकंप गुरुवार रात 11.46 बजे आया। भूकंप का केंद्र धरती के महज पांच किलोमीटर नीचे था। मालूम हो कि दिल्‍ली-एनसीआर का क्षेत्र भूकंप के लिहाज से बेहद संवेदनशील माना जाता है। भूकंप के लिहाज से दिल्ली एनसीआर और इसके आसपास के इलाकों को जोन-4 में रखा गया है। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली में यमुना नदी से सटे इलाके भूकंप की आशंका वाले क्षेत्रों में शामिल हैं।

इससे पहले राजस्‍थान के जयपुर में गुरुवार को दिन में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक, यह भूकंप गुरुवार को दिन में लगभग 11 बजे आया था। नेशनल सेंटर फॉर सिस्‍मोलॉजी (National Centre for Seismology, NCS) राजस्‍थान में आए भूकंप की तीव्रता रिक्‍टर स्‍केल पर 3.0 मापी गई जबकि इसका केंद्र जयपुर से 64 किलोमीटर उत्‍तर पश्चिम में था। हालांकि देश के अलग अलग हिस्‍सों में आए भूकंप से किसी जानमाल का नुकसान नहीं हुआ।

दुनिया में यदि भूकंप की बात करें तो गुरुवार को जापान में भी तगड़े झटके महसूस किए गए। समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, जापान में गुरुवार को 4.6 तीव्रता का झटका महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र राजधानी टोक्यो के उत्तर में इबाराकी प्रान्त में था। हालांकि कोई सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई। भूकंप का केंद्र राजधानी टोक्यो के उत्तर में इबाराकी प्रांत में था। इस भूकंप से जानमाल का कोई नुकसान नहीं देखा गया।