ठंड ने छत्तीसगढ़ में फिर से वापसी की है. जंगल-पहाड़ों में सुबह-सुबह ओस जमने लगी है। जशपुर, मैनपाट, बिलासपुर के वनक्षेत्र और चिल्फी घाटी में रात का तापमान 3° हो गया है, और सुबह पेड़-पौधों से लेकर घास के मैदानों में ओस जम रही है, राज्य का बड़ा हिस्सा शीतलहर की चपेट में है, मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार उत्तरी हवा ने प्रदेश में ठंड बढ़ाई है और 19 जनवरी तक इससे राहत के आसार नहीं हैं.

वैसे आपको बता दे की सर्दी का मौसम आधा बीत गया है, लेकिन ठंड कम होने का नाम नहीं ले रही है. छत्तीसगढ़ के जशपुर मेंपारा लुढ़कने के बाद बर्फ जम गई. पंजाब में तीन दिन शीतलहर का अलर्ट जारी किया गया है. यहां कई शहरों में विजिबिलिटी 10 मीटर तक हो गई है. मौसम विभाग के मुताबिक अभी 45 दिन की ठंड बाकी है.

दिन में धूप निकलने से चंडीगढ़ में मैक्सिमम टेम्परेचर बढ़ रहा है, लेकिन शीतलहर और कोहरे की वजह से रातें और ठंडी हो रही हैं. अगले कुछ दिन कोहरा छाया रहेगा. तापमान में भी गिरावट का अनुमान है.

पंजाब में अभी ठंड से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. शुक्रवार को लगभग सभी जिलों में मैक्सिमम टेम्परेचर सामान्य के मुकाबले 4° से 6° तक लुढ़का है. पंजाब में बठिंडा 3.8° के साथ सबसे ठंडा रहा है. जालंधर, लुधियाना और गुरदासपुर, अमृतसर समेत कई जिलों में देर रात से ही घना कोहरा छाना शुरू हो गया था और विजिबिलिटी करीब 10 मीटर रह गई. मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले 3 दिन तक शीतलहर चलेगी.

मौसम विभाग के अनुसार हरियाणा में 26 जनवरी से होगी बरसात, फिर कड़ाके की ठंड आएगी
हरियाणा में पिछले साल यानी 2020 में दिन-रात सामान्य से ठंडे रहे हैं. प्रदेश में उत्तर के जिले अम्बाला, उत्तर-पूर्वी करनाल और पश्चिम के जिले हिसार के सालभर के मिनिमम और मैक्सिमम टेम्परेचर का कैलकुलेशन किया गया है. मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि यहां 26 जनवरी से बरसात होगी. इसके बाद कड़ाके की ठंड का एक दौर और आएगा.