टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के दो मैचों में गेंदबाजी नहीं की है. हार्दिक का गेंदबाजी नहीं करना चर्चा का विषय बन गया है. सवाल उठने लगे हैं कि क्या हार्दिक को बतौर बल्लेबाज मैदान में उतारा जा रहा है. हार्दिक के बॉलिंग नहीं करने से टीम इंडिया का गेंदबाजी आक्रमण कमजोर नजर आ रहा है. सीरीज के दोनों मैचों में ये दिखा भी. हार्दिक के गेंदबाजी नहीं करने पर कप्तान विराट कोहली ने दूसरे वनडे के बाद बयान दिया. उन्होंने मैच के बाद कहा कि आगे के व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए इस ऑलराउंडर को फिट रखने के लिए यह फैसला किया गया. कोहली ने कहा कि हमें उनकी (हार्दिक) सही तरह से देखरेख करने की जरूरत है. यह जानना जरूरी है कि कहां हमें उनके कौन से कौशल की जरूरत है. विराट कोहली ने आगे कहा कि टी20 में गेंदबाजी में उनका उपयोग किया गया, लेकिन वनडे में उनके कार्यभार को व्यवस्थित करना जरूरी है. हमें इंग्लैंड में टेस्ट मैच खेलने हैं और इसलिए उनका फिट रहना हमारे लिए महत्वपूर्ण है. ता दें कि टीम इंडिया को इंग्लैंड में वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल खेलना है. न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाला ये मुकाबला जून माह में होगा. इंग्लैंड की तेज पिचों पर हार्दिक असरदार साबित हो सकते हैं. वनडे में हार्दिक के बॉलिंग नहीं करने पर भारत के पूर्व कप्तान वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि हार्दिक अगर टी20 में गेंदबाजी कर सकते हैं तो वनडे में एक-दो ओवर गेंदबाजी क्यों नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कप्तान कोहली को चेंज के तौर पर हार्दिक से गेंदबाजी करानी चाहिए थी. क्रवार को सीरीज के दूसरे वनडे मैच के दौरान स्टार स्पोर्ट्स पर कमेंट्री कर रहे पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने कहा कि हार्दिक पंड्या से गेंदबाजी नहीं कराया जाना समझ से परे है. वहीं, पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान ने कहा कि हार्दिक पंड्या का इस्तेमाल किया जाना चाहिए. हमारे गेंदबाज विकेट नहीं ले पा रहे हैं.