कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए हैंडसैनिटाइजर एक कारगर उपाय है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय, विश्व स्वास्थ्य संगठन और अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन की तरफ से लगातार यह सैनिटाइजर के उपयोग की सलाह दी जा रही है। अब भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए उनसे हैंडसैनिटाइजर का बहुत अधिक उपयोग ना करने की अपील की है…इसके साथ ही कई बार लोगों को दूसरी स्किन समस्याएं भी हो जाती हैं। ऐसा आमतौर पर उन्हीं लोगों के साथ होता है, जिनकी त्वचा बहुत अधिक संवेदनशील होती है या जिन्हें सैनिटाइजर में उपयोग किए गए किसी खास केमिकल से एलर्जी होती है।

-कुछ लोग किसी खास गंध को लेकर बहुत अधिक संवेदनशील होते हैं। बार-बार एक खास तरह की गंध कुछ लोगों में मन खराब होना, मितली आना या मूड स्विंग्स की वजह भी बन जाती है। जब आप कहीं बाहर हों या पानी ना उपलब्ध हो, उस स्थिति में आप सैनिटाइजर का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन यदि साबुन से हाथ धोना संभव हो तो उसी विकल्प को चुनें। क्योंकि सेहत के लिहाज से वह अधिक कारगर है।