मध्य प्रदेश में करीब 250 कौवे मरने के बाद से शिवराज सरकार सकते में आ गयी है.सरकार ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है और इसपे गहन तरीके से जाँच करवाने में जुटी है.मध्य प्रदेश में इसके सबसे अधिक मामले सामने आए हैं, जहां सैकड़ों की संख्या में कौवे मर गए और उन्हें ये वायरस मिला है.

बर्ड फ्लू से आधा भारत खौफ में जीने को मजबूर है.केंद्र सरकार कंट्रोल रूम बना बर्ड फ्लू केसेस पर नज़र बनायीं हुई है.सभी राज्य अपने अपने तरीके से बर्ड फ्लू को काउंटर करने जुट गयी.मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा कौवा मरने के बाद शिवराज संघ चौहान ने आपात बैठक बुलाई.इस बैठक में राज्य के चिकित्सा मंत्री समेत अन्य अधिकारी मौजूद हैं. भारत सरकार द्वारा बर्ड फ्लू को लेकर जो निर्देश भेजे गए हैं, उनको लेकर बैठक में मंथन हुआ.

MP में पक्षियों के सैंपल लिए जा रहे और जाँच की जा रही.इसके लिए जल्द ही राज्य सरकार निर्देश जारी करेगी.केंद्र सरकार के मुताबिक राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, केरल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो गई है. ऐसे में केंद्र सरकार की ओर से एक कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसके जरिए देश में आ रहे ऐसे मामलों पर नज़र रखी जा रही है.

बता दें भारत में अब तक मध्य प्रदेश, राजस्थान, इंदौर, केरल, गुजरात समेत कई राज्यों में बर्ड फ्लू से जुड़े मामले सामने आए हैं.भारत में करीब 10 राज्यों ने अपने यहाँ अलर्ट जारी किया है.मध्य प्रदेश में सबसे अधिक मृत कौवे मिले हैं, जिनमें बर्ड फ्लू का वायरस पाया गया है. इसके अलावा केरल ने भी प्रभावित इलाकों में पक्षियों को मारने का आदेश दिया है.