भारतीय बाजारों में आज सोने और चांदी की कीमतों में गिरावट आई। एमसीएक्स पर अक्तूबर का सोना वायदा 0.65 फीसदी गिरकर 52596 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। जबकि सितंबर का चांदी वायदा एक फीसदी गिरकर 70,345 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गया। पिछले सप्ताह 56,000 के रिकॉर्ड उच्च स्तर के बाद से सोने की कीमतें अस्थिर हैं। पिछले सत्र में, सोने में एक फीसदी की वृद्धि हुई थी, जबकि चांदी में लगभग छह फीसदी की वृद्धि हुई थी। इस सप्ताह अब तक सोना 2,000 रुपये प्रति 10 ग्राम से ज्यादा सस्ता हुआ है।

  1. वैश्विक बाजारों में इतनी रही कीमत
    वैश्विक बाजारों में, आज सोने की कीमतें 1,952 डॉलर प्रति औंस पर सपाट थीं। इस सप्ताह अब तक सोना चार फीसदी सस्ता हो चुका है। मंगलवार को रूस द्वारा कोरोना वायरस की वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद निवेशकों ने लाभ दर्ज किया।

    सोने को कमजोर डॉलर से समर्थन मिला, जिसमें अपने प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले लगातार तीसरे सत्र में गिरावट आई। यानी अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोना सस्ता हो गया।

    दुनिया के सबसे बड़े स्वर्ण-समर्थित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग गुरुवार को 0.1 फीसदी बढ़कर 1,252.09 टन हो गई। इस बीच, अरबपति रे डालियो के हेज फंड ब्रिजवॉटर एसोसिएट्स ने दूसरी तिमाही में गोल्ड समर्थित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड या गोल्ड ईटीएफ में अपना निवेश एक तिहाई बढ़ा दिया है।

    ब्रिजवॉटर ने एसपीडीआर गोल्ड शेयर्स ईटीएफ में 14 लाख शेयर खरीदे। विनियामक फाइलिंग के अनुसार, यह अप्रैल-जून तिमाही में लगभग 1,30,000 औंस सोने के बराबर है!