पबजी मोबाइल की दीवानगी इतनी है कि कई बार ये जानलेवा भी हो जाती है. इसको लेकर कर्नाटक के मंगलोर के उल्लाल से एक बेहद दुखद घटना सामने आई है. दरअसल यहां रविवार को एक बच्चे का शव पाया गया. इस मामले में एक 17 साल का नाबालिग आरोपी है. पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला.

सिर पर पत्थर से किया वार

ऑनलाइन गेम पबजी में जीत हार को लेकर दो लड़कों में विवाद हो गया जिसके बाद 17 साल के नाबालिग ने 12 साल के बच्चे के सिर पर बड़ा पत्थर उठाकर मार दिया और खून ज्यादा बहने से बच्चे की मौत हो गई. पुलिस पूछताछ में आरोपी नाबालिग ने बताया कि शनिवार रात को हम पबजी गेम खेलने के लिए मिले थे. यहां पबजी में आरोपी हार गया. आरोपी के मुताबिक बच्चे ने पहले उसे धक्का देकर उस पर पत्थर मारा, जिसपर पलटवार करते हुए 17 साल के नाबालिग ने बड़ा पत्थर उठा कर उसके सिर पर मार दिया.

खून बहने से हुई मौत

आरोपी ने आग कहा कि पत्थर मारने से बच्चा घायल हो गया और उसका खून बहने लगा. नाबालिग ने बच्चे को सड़क किनारे छोड़ कर चला गया. बाद में बच्चे का शव बरामद किया गया. मृतक बच्चे के घरवालों ने बताया कि वे बच्चे को पबजी खेलने के लिए फोन दिया करते थे.

‘बच्चों के गेम का ध्यान रखें परिजन’

इस पूरे मामले पर पुलिस अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. मंगलोर पुलिस कमिश्नर एन शशि कुमार ने कहा कि घटना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है और परिजनों को अपने बच्चे की आदतों के बारे में खबर होनी चाहिए. परिजनों को अपने बच्चों को इस तरह के गेम खेलने की इजाजत नहीं देनी चाहिए.