करीब 40 साल से सनातन धर्म की प्रसिद्ध पत्रिका कल्याण के संपादक रहे राधेश्याम खेमका पिछले 15 दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे. तबीयत बिगड़ने पर उन्हें वाराणसी के ही रवींद्रपुरी इलाके में स्थित एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था.

यूपी के गोरखपुर स्थित गीता प्रेस के अध्यक्ष और सनातन धर्म की प्रसिद्ध पत्रिका ‘कल्याण’ के संपादक राधेश्याम खेमका का निधन हो गया है. वे 87 साल के थे. राधेश्याम खेमका ने शनिवार की दोपहर वाराणसी के केदार घाट स्थित अपने आवास पर अंतिम सांस ली. वे पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे.

राधेश्याम खेमका का अंतिम संस्कार हरिश्चंद्र घाट पर किया गया. मुखाग्नि उनके पुत्र राजा राम खेमका ने दी. जानकारी के अनुसार पिछले करीब 40 साल से सनातन धर्म की प्रसिद्ध पत्रिका कल्याण के संपादक रहे राधेश्याम खेमका पिछले 15 दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे. तबीयत बिगड़ने पर उन्हें वाराणसी के ही रवींद्रपुरी इलाके में स्थित एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था.

बताया जाता है कि दो दिन पहले ही राधेश्याम खेमका को अस्पताल से केदारघाट स्थित आवास लाया गया था जहां उन्होंने शनिवार की दोपहर करीब 12.30 बजे अंतिम सांस ली. कई संतों के काफी निकट रहे राधेश्याम खेमका पिछले करीब 40 साल से सनातन धर्म की पत्रिका ‘कल्याण’ के संपादन का दायित्व निभा रहे थे. वे अपने पीछे भरापूरा परिवार छोड़ गए हैं.