किसान नेताओं ने दिल्ली पुलिस से लिखित में ट्रैक्टर परेड की अनुमति मांगी है. किसान नेताओं और पुलिस अधिकारियों के बीच जिन रूटों की मीटिंग में बात हुई थी, वही रूट इस पत्र में भी हैं. अभी पुलिस ने परमिशन नहीं दी है. किसान नेताओं के बीच 3 बॉर्डरों पर सहमति जताई है.

केंद्र के तीन कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ किसानों का आंदोलन तेज होते हुए दिख रहा है. कानूनों को लेकर गतिरोध के बीच अन्नदाता गणतंत्र दिवस (Republic Day) यानी 26 जनवरी को ट्रै्क्टर परेड (Tractor Parade) निकालने की तैयारी कर रहे हैं. किसान नेताओं के बीच ट्रैक्टर रैली को लेकर तीन बॉर्डरों पर सहमति बन गई है. किसानों ने ट्रैक्टर परेड के लिए दिल्ली पुलिस से लिखित अनुमति भी मांगी है. शनिवार रात को पुलिस को किसानों का पत्र मिला है. इस बीच, एक किसान नेता ने कहा कि दिल्ली पुलिस से अनुमति मिले या नहीं मिले, हम दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर रैली करेंगे. वस सहमति के लिए पुलिस से अनुमति मांगी है.

वही जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि किसान नेताओं और पुलिस अधिकारियों के बीच जिन रूटों की मीटिंग में बात हुई थी वही रूट इस पत्र में भी हैं. अभी पुलिस ने परमिशन नहीं दी है. पुलिस मीटिंग के बाद तय करेगी क्या करना है. उधर, किसान रूटों को पहले खुद देखने जाएंगे.

किसान नेताओं के बीच 26 जनवरी को, की जाने वाली ट्रैक्टर परेड को लेकर 3 बार्डरों पर सहमति जताई गई है.

1 सिंघु बॉर्डरः- सिंघू बार्डर से ट्रैक्टर परेड चलेगी, जो संजय गांधी ट्रांसपोर्ट, कंझावला, औचन्दी बॉर्डर होते हुए हरियाणा में चली जाएगी.

2 टिकरी बॉर्डरः- टिकरी बार्डर से ट्रैक्टर परेड नागलोई, नजफगढ, ढांसा, बादली होते हुए केएमपी पर चली जाएगी.

3 गाजीपुर यूपी गेटः- गाजीपुर युपी गेट से ट्रैक्टर परेड अप्सरा बार्डर गाजियाबाद होते हुए दुहाई युपी में चली जाएगी. बाकी शांहजहांपुर व पलवल से ट्रैक्टर परेड के बारे आज किसान नेता बताएंगे.

समाचार एजेंसी एएनआई से जानकारी के अनुसार, पंजाब किसान संघर्ष समिति के सतनाम सिंह पन्नू ने कहा, “गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर रैली के लिए कई किसान दिल्ली आ रहे हैं. हम दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर रैली निकालेंगे, दिल्ली पुलिस इसके लिए अनुमति दे अथवा नहीं.