देश के सबसे मशहूर कार डिज़ाइनर दिलीप छाबड़िया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अखबारों और सोशल मीडिया पर हर जगह वायरल हो रहे। दिलीप पहले से ही पुलिस की कस्टडी थे। जबकि फिर से उन्हें नए मामले में गिरफ्तार किया गया है। नए मामले की बात करे तो कॉमेडियन कपिल शर्मा ने दर्ज़ कराया है।

आरोप प्रत्यारोप लगने के दौर शुरू होते ही कई और लोगों ने भी दिलीप पर धोखाधड़ी का आरोप लगाने लगे। फिलहाल पुलिस केस की जांच में तो जुट गयी है मगर उनपर जिस तरह का आरोप लग रहा है ऐसा लग रहा मानो दिलीप की आगे का सफर जेल में ही बीतेगा। दिलीप छाबड़िया पर लगे आरोपों में कहा गया है कि उन्‍होंने रकम लेने के बाद भी वैनिटी वैन नहीं दी, बल्कि वैनिटी वैन पार्किंग का डेढ़ करोड़ का बिल दे दिया। इससे पहले छाबड़िया पर कर्ज न चुकाने और एक ही गाड़ी का रजिस्ट्रेशन कई जगहों पर करने का आरोप लगा था।

दिलीप छाबड़िया को इस तरह का आरोप लगने का अहसास बोहोत पहले ही हो गया था। एक पुराने इंटरव्यू में दिलीप ने बताया था की नए कारो को डिज़ाइन करने का तरीका किसी न किसी दिन ले डूबेगा। उन्‍होंने मीडिया से चर्चा करते हुए इस बाबत आशंका भी जाहिर की थी। उन्‍होंने कहा था, ‘सुपरकार बनाने, उसे लांच करने और बेचने के सफर का बहुत बड़ा जोखिम उनकी कंपनी और परिवार ने उठाया है।

सबके चहेते कार डिज़ाइनर –

बॉलीवुड के कई स्टार्स के साथ उनका उठना बैठना लगा रहता था। बॉलीवुड स्टार्स के लिए पहली पसंद थे दिलीप छाबड़िया। फिल्‍मी सितारे चाहते थे कि उनके वाहन आकर्षक और आरामदायक हों। वाहनों में उन्‍हें घर जैसी सुविधा मिल सके। इसको ध्‍यान में रखकर दिलीप ने टाटा इनोवा के साथ प्रयोग किया। कंपनी के इंटीरियर को हटाकर उन्‍होंने लैदर, लकड़ी और इलेक्‍ट्रॉनिक सामानों से टाटा इनोवा को स्‍टार होम के लिविंग रूम में बदल दिया। उनका यह प्रयोग बेहद लोकप्रिय हुआ और इससे उनकी कंपनी को बहुत सम्‍मान और काम मिला।

कौन है दिलीप छाबड़िया –

भारत के पहले कार डिज़ाइनर जो देश से लेकर विदेशों तक अपना नाम बनाया। दिलीप ने जनवरी 2003 में जब डीसी डिजाइन ने डेट्रॉइट मोटर शो में एस्टन मार्टिन वी8 वांटेज के प्रोटोटाइप को प्रदर्शित किया तो दुनिया भी हैरान रह गई। इसे कंपनियों, कार प्रेमियों, डिजाइन विशेषज्ञों से बहुत सराहना मिली। यह प्रोटोटाइप ब्रिटिश सुपर कार कंपनी के स्‍पेसिफिकेशन पर आधारित था। दिलीप ऑटो और कार की डिजाइन बनाते थे. उन्‍होंने मारुति सुजुकी की जिप्‍सी में भी बदलाव कर लोकप्रियता पाई थी।