पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन से हुए लाभ को देखते हुए ममता बनर्जी ने एक बार फिर इसे 15 जून तक बढ़ाने की घोषणा कर दी है। सीएम बनर्जी ने कहा कि फिलहाल 15 जून तक पाबंदियां लागू रहेंगी। राज्य में 16 मई से लागू पाबंदियों को बरकरार रखा गया है।

राज्य सचिवालय में गुरुवार को मीडिया से मुखातिब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि 16 से 30 मई तक लागू पाबंदियों में एक संशोधन किया गया है, जिसके तहत जूट मिलों में काम करने वालों की संख्या बढ़ाई जाएगी। पिछले नियमों के अनुसार इस बार भी बाजार सुबह आठ बजे से सुबह 10 बजे तक ही खुले रहेंगे। किराना स्टोर, रिटेल स्टोर, बाजार, दैनिक जरूरत की सभी चीजें सुबह सात से 10 बजे तक खुली रहेंगी। दवा की दुकानें सामान्य तौर पर पहले जैसी खुली रहेंगी। सभी ई-कॉमर्स सेवाएं चालू रहेंगी। अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए अभी भी 20 लोगों की ही अनुमति होगी। जूट मिलें 30 के बदले अब 40 प्रतिशत लोगों के साथ चलेंगी। बैंक भी 10 से दो बजे तक ही खुले रहेंगे। मिठाई की दुकान 10 बजे से शाम पांच बजे तक ही खुली रहेंगी। इसके साथ ही साड़ी और सोने की दुकानें खोलने के लिए भी नियम समान हैं। दोपहर 12:00 बजे से अपराहन 3:00 बजे तक यह सारी दुकानें खुली रहेंगी।
पिछले नियमों के मुताबिक ही राज्य में अभी भी सभी शॉपिंग मॉल, ब्यूटी पार्लर, रेस्तरां, बार, खेल परिसर, जिम, स्पा और स्वीमिंग पूल 30 मई के बाद भी एक से 15 जून तक बंद ही रहेंगे। अभी भी इस दौरान राज्य में हर तरह के सामाजिक, सांस्कृतिक, शैक्षणिक, मनोरंजन से संबंधित कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिये लोगों के एकत्र होने पर रोक रहेगी। शादी समारोह में 50 से अधिक लोगों को जुटने की इजाजत नहीं होगी। सरकारी और प्राइवेट सभी कार्यालय, मेट्रो, रेल, बस और फेरी सेवा, स्कूल-काॅलेज समेत सभी शैक्षणिक संस्थान बंद ही रहेंगे। रात नौ से सुबह 5 बजे तक सभी आउटडोर एक्टिविटी अभी भी बंद ही रहेगी। अंतिम संस्कार में केवल 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी।