पाकिस्तान के कप्तान अजहर अली ने कहा है कि उनकी टीम को प्रदर्शन बेहतर करने में तुर्की की ब्लॉक बस्टर सीरीज इर्तुगुल से प्रेरणा मिली है। दोनों देशों के बीच तीसरा टेस्ट आज शुरू हो रहा है। अजहर ने माना कि पहले टेस्ट में टीम का प्रदर्शन उस तरह का नहीं था, जिसकी वे उम्मीद कर रहे थे। लेकिन, क्रिकेट में इस तरह के उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। 35 साल के अजहर इस वक्त दोहरे दबाव में हैं। उनका व्यक्तिगत प्रदर्शन इस सीरीज में अब तक कोई खास नहीं रहा। पहले टेस्ट में उनकी कप्तानी को लेकर भी कई तरह के सवाल उठे।

जीत जरूरी
अजहर अली पर तीसरा टेस्ट जीतने का दबाव है। अगर उनकी टीम यह टेस्ट नहीं जीत पाती है तो इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज भी गंवा देगी। टीम पर दबाव इसलिए भी बढ़ गया क्योंकि दूसरा टेस्ट बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका। इस मैच में खराब रोशनी के नियम को लेकर भी सवाल उठे।

टीवी सीरीज से मनोबल बढ़ा
इर्तुगल टीवी सीरीज का प्रसारण पाकिस्तान में 2014 से 2019 के बीच हुआ। कुल पांच सीजन दिखाए गए। अजहर मानते हैं कि इस सीरीज ने टीम के मनोबल को बढ़ाया। इर्तुगुल में ओटमन साम्राज्य के फाउंडर उस्मान पर आधारित है। मूल रूप से यह फिक्शन और एडवेंचर वाली सीरीज है। अजहर ने कहा- मुझे नहीं लगता कि इस टीम में ऐसा कोई प्लेयर है, जो इर्तुगुल सीरीज नहीं देख रहा हो।

मैं खुशकिस्मत हूं
मैच के पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में अजहर ने टीम की तारीफ की। कहा- मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरे पास इतनी अच्छी टीम है। हम अपनी रणनीति बनाते हैं और मैदान पर उसे अमल में लाने की कोशिश करते हैं। मुझे पूरी उम्मीद है कि तीसरा टेस्ट जीतकर टीम ये बता देगी कि वो कितनी सक्षम है। पहले टेस्ट की दो पारियों में अजहर ने सिर्फ 18 और 0 स्कोर किया। पाकिस्तानी कप्तान ने कहा- ये सही है कि मैं बड़ा स्कोर नहीं बना सका, लेकिन मैं जानता हूं कि मैं अच्छे टच में हूं और जल्द ही चीजें संभाल लूंगा।