वही आपको बता दे की रिपोर्ट के मुताबिक फरवरी के पहले सप्ताह में ही बंगाल चुनाव की घोषणा चुनाव आयोग कर सकता है. सूत्रों के अनुसार चुनाव आयोग 5 मई से पहले बंगाल में चुनाव की प्रक्रिया खत्म कर लेना चाहता है. मौजूदा सरकार का कार्यकाल 30 मई तक है.

1 वक़्त से पहले हो सकते है, बंगाल विधानसभा चुनाव.
2 कोरोना की वजह से 7 या 8 चरणों में होंगे चुनाव.
3 बोर्ड की परीक्षा से पहले करना होगा चुनाव.
4 चुनाव में राज्य पुलिस की नहीं होगी तैनाती.

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव 20 से 25 दिन पहले ही हो सकते हैं. ऐसा 10 और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को ध्यान में रखकर किया जा रहा है. चुनाव आयोग के सूत्रों ने इंडिया टुडे को बताया कि बंगाल के लिए चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं और आयोग चुनाव को थोड़ा पहले करवा लेना चाहता है, ताकि बोर्ड परीक्षाओं के दौरान दिक्कत न हो.

रिपोर्ट के मुताबिक फरवरी के पहले सप्ताह में ही बंगाल चुनाव की घोषणा चुनाव आयोग कर सकता है. सूत्रों के अनुसार चुनाव आयोग 5 मई से पहले पहले बंगाल में चुनाव की प्रक्रिया खत्म कर लेना चाहता है. मौजूदा सरकार का कार्यकाल 30 मई तक है. शिक्षा मंत्रालय ने कहा है कि इस बार 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 4 मई से लेकर 10 जून तक चलेंगी. हालांकि सीबीएसई ने अभी परीक्षा कार्यक्रम और तिथियों की घोषणा नहीं की गई है.