अमेरिका के इतिहास में सबसे अधिक उम्र में अमेरिका के राष्ट्रपति बनने जा रहे बाइडन शपथ ग्रहण के तुरंत बाद राष्ट्रपति के तौर पर देश के नाम अपना पहला संबोधन देंगे. ऐतिहासिक भाषण भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक विनय रेड्डी तैयार कर रहे हैं, जो एकता और सौहार्द पर आधारित होगा. डोनाल्ड ट्रंप ने पहली बार अमेरिकियों से आने वाले जो बाइडेन प्रशासन की सफलता के लिए “प्रार्थना” करने को कहा है.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने कार्यकाल के आखिरी दिन नए बनने वाले राष्ट्रपति जो बाइडेन को जीत की बधाई दी. इससे पहले जो बाइडेन ने भावुक अंदाज में वॉशिंगटन की उड़ान भरी. बुधवार (20 जनवरी) को नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन और उप राष्ट्रपति कमला हैरिस कार्य भार संभालेंगे.

अपने घर विलमिंगटन, डेलावेयर से वाशिंगटन के लिए उड़ान भरने से पहले एक विदाई समारोह में जो बाइडेन बेहद भावुक नजर आए. उनके गालों पर आंसू टपकते नजर आए, जहां उन्होंने अपने दिवंगत पुत्र और उभरते राजनीतिज्ञ बियू को श्रद्धांजलि दी. 78 वर्षीय जो बाइडेन ने कहा, मेरी भावनाओं को माफ कीजिएगा लेकिन जब मैं मर जाऊंगा, तो मेरे दिल पर डेलावेयर लिखा होगा. मुझे सिर्फ एक पछतावा रह जाएगा कि वो यहां नहीं है क्योंकि वो मुझे राष्ट्रपति के रूप में देखना और परिचय कराना चाहता था.

ट्रम्प जो की सार्वजनिक जगह पर एक सप्ताह तक नजर नहीं आये थे. ट्रम्प ने एक विदाई समारोह के दौरान अपना मौन तोडा. जिसे व्हाइट हाउस ने कहा था कि एक दिन के बाद में जारी किया जाएगा. ट्रंप के विदाई संबोधन के अंश के अनुसार, उन्होंने पहली बार अमेरिकियों से आने वाले बाइडेन प्रशासन की सफलता के लिए “प्रार्थना” करने को कहा है.

अमेरिका के इतिहास में सबसे अधिक उम्र के राष्ट्रपति बनने जा रहे बाइडन शपथ ग्रहण के तुरंत बाद राष्ट्रपति के तौर पर देश के नाम अपना पहला संबोधन देंगे. ऐतिहासिक भाषण भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक विनय रेड्डी तैयार कर रहे हैं, जो एकता और सौहार्द पर आधारित होगा.