देश में कृषि बिल को विरोध प्रदर्शन जारी है.तो ऐसे में महाराष्ट्र राज्य से दिल दहलाने वाली खबर आयी है.खबर ये है की एक किसान का फसल न बिकबे से परेशान किसान ने खुदखुशी कर ली है.बताया जा रहा की किसान ने कृषि मंत्री को चिट्ठी भी लिखी थी.किसान संतरा का उत्पादन करता है.किसान दो भाइयों के साथ संतरा का अच्छा खासा उत्पादन करता है.फसल न बिकने से परेशान था.

बड़े भाई का नाम अशोक भूयार था जिन्होंने खुदखुशी की.जब छोटे भाई बड़े भाई दाह संस्कार कर लौट रहा था तभी छोटे भाई का दिल दौरा पड़ा और वो भी स्वर्ग को सिधार गया.किसान ने सरकार से मदद की गुहार की लगायी थी मगर कोई सुध लेने वाला नहीं था.बच्चू कडू महाराष्ट्र सरकार में शिक्षा राज्य मंत्री हैं, जिनकी गिनती क्षेत्र के बड़े किसान नेता के तौर पर होती है. बीते दिनों बच्चू कडू किसान आंदोलन में हिस्सा लेने दिल्ली भी आए थे.

किसान ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि संतरे की बोली लगाने वाले व्यापारी ने ऐन वक्त पर सामान लेने से इनकार कर दिया. जब किसान ने सवाल किया तो उसे पहले शराब पिलाई और फिर जमकर पिटाई की.

किसान अशोक भूयार ने इस मामले की शिकायत की. परिवार का आरोप है कि जब किसान पुलिस स्टेशन में शिकायत करने गया तो थानेदार ने भी उसकी पिटाई की, जिसके बाद किसान ने आत्महत्या कर ली.

हालांकि, इस बीच मंत्री के नाम चिट्ठी भी लिखी. इस आत्महत्या के बाद गांव वालों ने और उनके परिजनों ने थाने में खूब हंगामा किया. थानेदार और बीट जमादार पर कार्रवाई की मांग की है.

आपको बता दें कि इससे पहले भी महाराष्ट्र समेत देश के अन्य इलाकों से इस प्रकार के मामले सामने आए हैं. जहां किसान ने फसल में हुए नुकसान के बाद इस तरह का कदम उठाया है.