आखिरी ओवर की पहली गेंद पर फखर जमां ने लुंगी एंगिडी पर दो रन लेने का प्रयास किया. लांग-ऑफ पर फील्डिंग कर रहे एडम मार्क्रम ने फुर्ती दिखाते हुए गेंद को स्ट्राइकर एंड की तरफ फेंका. इसी बीच विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक ने ऐसे इशारा किया, जैसे मार्क्रम का थ्रो बॉलिंग एंड पर आ रहा हो. इसके बाद फखर पीछे देखने के लिए मुड़े और बॉल सीधे स्टंप्स पर आकर लग गई.

पाकिस्तान के ओपनर फखर जमां ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के दूसरे मैच में 193 रनों की शानदार पारी खेली.  हालांकि उनकी इस पारी के बावजूद जोहानसबर्ग में रविवार को खेले गए इस मुकाबले में पाकिस्तान को 17 रनों से हार का सामना करना पड़ा. साउथ अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 341 रन बनाए.

जवाब में पाकिस्तान 50 ओवरों में 9 विकेट के नुकसान पर 324 रन ही बना पाई. पाकिस्तान अगर लक्ष्य के करीब तक पहुंची तो इसका श्रेय फखर जमां को जाता है. पाकिस्तान के 324 रन में से 193 रन अकेले उन्होंने बनाए. फखर जमां एडम मार्क्रम के थ्रो पर रन आउट हुए. हालांकि फखर जमां जिस तरीके से रन आउट किए गए उसपर सवाल खड़े हो रहे हैं.

दरअसल, फखर जमां ‘फेक फील्डिंग’ का शिकार हुए. आखिरी ओवर की पहली गेंद पर फखर जमां ने लुंगी एंगिडी पर दो रन लेने का प्रयास किया. लांग-ऑफ पर फील्डिंग कर रहे एडम मार्क्रम ने फुर्ती दिखाते हुए गेंद को स्ट्राइकर एंड की तरफ फेंका. इसी बीच विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक ने ऐसे इशारा किया, जैसे मार्क्रम का थ्रो बॉलिंग एंड पर आ रहा हो. इसके बाद फखर पीछे देखने के लिए मुड़े और बॉल सीधे स्टंप्स पर आकर लग गई.

फखर जमां के आउट होने के बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स ने रिएक्ट भी किया. लोग इसे खेल-भावना के खिलाफ बता रहे हैं. दिग्गज खिलाड़ी भी इससे काफी नाराज दिखाई दिए.

क्या कहता है आईसीसी का नियम

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के नियम 41.5 के अनुसार ‘फेक फील्डिंग’ का नियम कहता है कि किसी भी फील्डर के लिए जानबूझकर, अपने शब्दों से अथवा एक्शन से स्ट्राइकर के गेंद खेलने के बाद किसी भी बल्लेबाज का ध्यान भटकाना, बहकाना अथवा बाधा पैदा करना गलत है. नियम 41.5.2 के मुताबिक, यह दोनों में से किसी भी अंपायर का दायित्व है कि वह तय करे कि बहकाना, ध्यान भटकाना अथवा बाधा उत्पन्न करना जानबूझकर किया गया है अथवा नहीं.

अगर अंपायर यह पाता है कि किसी फील्डर ने जानबूझकर गलती की है तो वह खिलाड़ी को नॉटआउट करार दे सकता है और गेंद डेड बॉल हो जाएगी. इसके साथ ही बैटिंग कर रही टीम को पांच रन दिए जाएंगे. इसके साथ ही उस गेंद पर बने रन भी टीम को मिलेंगे.

लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे ज्यादा रन:

193- फखर जमां vs साउथ अफ्रीका जोहानिसबर्ग, 2021

185*- शेन वॉटसन vs बांग्लादेश, मीरपुर 2011

183*- एमएस धोनी vs श्रीलंका, जयपुर 2005

183- विराट कोहली vs पाकिस्तान, मीरपुर 2012