पिछले दिन बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा के काफिले पर बंगाल हमला किया गया था .पार्टी के कई कार्यकर्ता घायल हो गए थे . उसके बाद बंगाल की सियासी पारा चढ़ गया और राजनितिक बयानबाज़ी शुरू हो गयी .वैसे विधानसभा चुनाव बंगाल में अगले साल होने है मगर अभी से बंगाल राजनीती की ज़ुबानी दंगल में में तब्दील हो चूका है .

जे पी नड्डा पर हमला होने के बाद बीजेपी तीखे तेवर अपनाते हुए बिलकुल आक्रामक हो गया . बीजेपी ने टीएमसी पर हमला बोलते हुए कहा की ये घटना प्रायोजित थी और ये टीएमसी की सोची समझी साज़िश के तहत इसे अंजाम दिया गया . गृह मंत्री अमित शाह ने भी ममता सरकार पर सुर बदलते हुए बोला इसका जवाब टीएमसी को देना चाहिए . उसके बाद उन्होंने कहा – जवाब जनता देगी ममता को विधान सभा चुनाव में .

विवाद के बीच बंगाल बीजेपी के नेता सायंतन बसु ने भी टीएमसी पर निशाना साधा है. सायंतन बसु ने कहा है कि अगर एक मारोगे, तो हम चार मारेंगे.सायंतन बसु ने कहा कि कल रात टीएमसी के अभिषेक बनर्जी के दिल्ली आवास पर जो कालिख पोती गई, वो सिर्फ एक शुरुआत है. सायंतन बसु बंगाल बीजेपी में महासचिव पद पर हैं.

उसके बंगाल के बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने एक पोस्टर किया जिसमे ‘बदले’ की बात कर रहे हैं. बंगाल बीजेपी चीफ दिलीप घोष ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि बदला होबे, बदलाव होबे. यानी हम बदलाव भी करेंगे और बदला भी लेंगे.

आपको बता दें कि ये नारा ममता बनर्जी के पुराने नारे से मिलता जुलता है जिसमें उन्होंने बदला नहीं, बदलाव चाहिए की बात की थी.

जानकारी के लिए बता दें ये बीजेपी और टीएमसी के बिच कई बार पार्टी कार्यकर्ता आपस में झगड़ चुके है . लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है जिसमे काफिले पर हमला हुआ हो