कोरोना वायरस को मात देने के लिए राजधानी में तेजी से जांच की जा रही है। एक सप्ताह में ही करीब 1 लाख 29 हजार लोगों के टेस्ट किए गए हैं।

जांच के मामले में अभी तक की यह सबसे लंबी छलांग है। खास पहलू यह है कि बड़ी संख्या में जांच होने के बाद भी संक्रमण के मामले ज्यादा नहीं बढ़ रहे हैं। नतीजतन, संक्रमण दर 6 फीसदी से नीचे पहुंच गई है।
राजधानी में मई से 17 जून तक रोजाना औसतन पांच हजार लोगों की जांच होती थी। यानी, पहले एक लाख से ज्यादा जांच होने में एक से डेढ़ महीने का समय लगता था, लेकिन अब एक सप्ताह में ही यह आंकड़ा पार हो गया है। 18 जून के बाद से यहां जांच का दायरा बढ़ने लगा था।
दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, अभी तक 11,92,082 लोगों की जांच हो चुकी है। इनमें 6 लाख से ज्यादा टेस्ट पिछले डेढ़ महीने में ही हुए हैं। अब इतने अधिक सैंपल लेने पर भी संक्रमण के मामले नहीं बढ़ रहे हैं।

जून में पांच हजार टेस्ट पर ही 1300 मामले आते थे। अब 23 हजार सैंपल लेने पर इतने मामले आ रहे हैं। यानी, जांच बढ़ती गई और संक्रमण दर घटती रही। 7 से 14 जून के बीच 39,500 लोगों की जांच की गई और संक्रमण दर 30 फीसदी थी।

यानी, हर 100 सैंपल में से 30 लोग संक्रमित मिलते थे। इसके बाद धीरे-धीरे यह संख्या कम होती रही। बीते एक सप्ताह में 1 लाख 30 हजार जांच पर 8 हजार केस आए और संक्रमण दर 6 फीसदी से कम रही।
जितनी अधिक जांच, उतना काबू में आएगा वायरस

अपोलो अस्पताल के डॉक्टर प्रवीण कुमार बताते हैं कि जितनी अधिक जांच होगी, उतनी ही तेजी से संक्रमण को काबू करने में आसानी होगी। जांच बढ़ाने का सबसे ज्यादा लाभ यह है कि समय पर संक्रमितों की पहचान कर उन्हें आइसोलेट कर दिया जाता है। दिल्ली में संक्रमण दर कम होने का एक कारण यह भी है कि अब करीब 30 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी बन चुकी है। यानी, वे संक्रमित हुए और अपने आप ठीक भी हो गए।

पिछले एक सप्ताह में ऐसे बढ़ी जांच
दिन    मामले    जांच
3 अगस्त    805    10,133
4 अगस्त    674    9,295
5 अगस्त    1076    16785
6 अगस्त    1299    24,367
7 अगस्त    1192    23,262
8 अगस्त    1404    24592
9 अगस्त    1300    23787

जुलाई की स्थिति
दिन    मामले    जांच
3 जुलाई    2520    24,120
4 जुलाई    2505    23,673
5 जुलाई    2244    23,136
6 जुलाइ    1379    13890
7 जुलाई    2008    22,130
8 जुलाई    2033    21,103
9 जुलाई    2187    22,289

 

जून में थे ये हालात
दिन    मामले    जांच
2 जून    1298    6070
3 जून    1513    6538
4 जून    1359    6700
5 जून    1330    5,107
6 जून    1320    5100
7 जून    1320    5300
8 जून    1007    6436
9 जून    1222    5100

नोट : आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की वेबसाइट से लिए गए हैं।