नई दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Coronavirus Face Masks: कोरोना वायरस के इस समय में जब भी आप घर से बाहर निकलें, तो मास्क या फिर मुंह को ढकना बेहत महत्वपूर्ण है। यहां तक कि किसी बाहर के इंसान से मिलने पर भी मास्क ज़रूर पहनना चाहिए। हालांकि, ज़्यादा देर मास्क पहनने से सभी को दिक्कत आ रही है। मास्क आपके चेहरे पर कस जाता है, जिससे सांस लेने में परेशानी आती है। लेकिन आप अकेले नहीं हैं, जो इस दिक्कत का सामना कर रहे हैं। ज़्यादातर लोग मास्क काफी देर पहनने के बाद पसीने या सांस की तकलीफ के चलते उतार देते हैं।

क्या मास्क पहनने से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा पर असर पड़ता है?

ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड पर मेडिकल मास्क के प्रभाव को लेकर सार्वजनिक रूप से चिंता बढ़ती जा रही है। ऐसे में WHO ने यह सुनिश्चित किया है कि लंबे समय तक मेडिकल मास्क (जिसे सर्जिकल मास्क भी कहा जाता है) का उपयोग शरीर में ऑक्सीजन की कमी या कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा नहीं बढ़ती है।

यहां तक कि, वैश्विक स्वास्थ्य एजेंसी की भावनाओं को प्रतिध्वनित करते हुए, डॉ. मेहमत ओज़, जो कोलंबिया में एक कार्डियोथोरेसिक सर्जन हैं, ने “क्वैशिंग” नाम का एक वीडियो जारी किया जिसमें उन्होंने मास्क और उससे जुड़े अफवाहों के बारे में बात की है।

वीडियो में, डॉ. ओज़ को सर्जिकल मास्क और N-95 रेस्पिरेटर मास्क दोनों को पहनने से पहले और बाद में पल्स ऑक्सिमीटर का उपयोग कर अपना ऑक्सीजन स्तर मापते हुए देखा जा सकता है। पूरे प्रयोग के दौरान उनके संतृप्ति स्तर बिल्कुल नहीं बदलता है। डॉ. ओज़ ने कहा, “मैंने बिना किसी समस्या के अपने पूरे करियर में 12 घंटे की सर्जरी के दौरान मास्क पहना है। आप भी घर के सामान की खरीदारी के वक्त इसे पहने और मास्क की आदत डाल सकते हैं।

क्या कहते हैं भारतीय डॉक्टर्स

हालांकि, भारतीय डॉक्टरों का मानना है कि लंबे समय तक मास्क पहनने से शरीर में ऑक्सीजन का स्तर कम हो जाता है। मैक्स के कार्डियोलॉजी के हेड डॉ. कुमार का कहना है कि लंबे समय तक N95 या सर्जिकल मास्क पहनने से ऑक्सीजन स्तर पर फर्क पड़ता है।

उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि इन मास्क को 6 घंटे से ज़्यादा समय के लिए पहनने से ऑक्सीजन का स्तर निश्चित तौर पर गिरेगा। उनके मुताबिक N95 या सर्जिकल मास्क सिर्फ मेडिकल एक्सपर्ट्स को ही पहनने चाहिए, क्योंकि वे सीधे तौर पर कोविड-19 मरीज़ों के संपर्क में आते हैं।

आम लोगों को तीन-लेयर का मास्क ही पहनना चाहिए

अगर N95 या इसी तरह के मास्क पहनकर आप असहज महसूस करते हैं, तो आप खुद को वायरस से बचाने के लिए तीन लेयर का मास्क भी पहन सकते हैं।

तीन लेयर वाले मास्क में सांस लेना आसान हो जाता है और ऑक्सीजन का स्तर भी कम नहीं होता। क्योंकि मेडिकल एक्सपर्ट की तुलना आम लोग कोविड-19 के मरीज़ों के संपर्क में काफी कम आते हैं, इसलिए वे इस तरह के मास्क पहन सकते हैं।