कोरोना महामारी की चपेट में आने के बाद क्या वैक्सीन लगवा सकते हैं? इससे क्या फायदे होंगे? इस तरह के सभी सवालों के जवाब लोग जानना चाहते हैं. आइए जानते हैं एक्सपर्स से.

नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की पहली डोज लेने के बाद अगर कोई शख्स वायरस की चपेट में आकर पॉजिटिव (Corona Positive) हो जाता है, तो उसे दूसरी डोज कब लेनी चाहिए? क्या दूसरी डोज लेने का कोई फायदा मिलेगा? ये ऐसा सवाल है जिसका जवाब बहुत कम लोग जानते होंगे. आइए जानते हैं इनके जवाब.

जानिए सवालों के जवाब

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्थित AIIMS की प्रोफेसर डॉ मंजरी त्रिपाठी ने बताया कि, ‘लोग वायरस की चपेट में आने के बाद भी वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा सकते हैं. कोरोना को पूरी हराने के 3-4 सप्ताह के बाद दूसरी डोज लगवाई जा सकती है. केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइन में भी कहा गया है क‍ि COVID-19 फिर से न हो, इसलिए इसके खिलाफ पूरी तरह से सुरक्षित होना है. इसलिए आपको दूसरी खुराक जरूर मिलनी चाहिए.’

एंटीबॉडी से जीतेंगे कोरोना से जंग

वहीं AIIMS के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने बताया कि कोरोना होने के बाद दूसरे डोज जरूरी लेनी चाहिए. इससे आपकी इम्यूनिटी को बूस्ट मिलेगा और रोगों को लड़ने की क्षमता बढ़ेगी. ऐसा करने पर आपके दोबारा बीमार होन के चांस काफी कम हो जाएंगे. उन्होंने बताया कि टीकाकरण एकमात्र ऐसा तरीका है जो आपकी बॉडी में एंटीबॉडी जल्द से जल्द बना सकता है.

कोरोना की दूसरी लहर पर लगाम लगाने के लिए सरकार 1 मई से नए चरण की शुरुआत करने जा रही है. इसके तहत 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोग भी अब वैक्सीन लगवा सकेंगे. इसके लिए रजिस्ट्रेशन 26 अप्रैल से शुरू होने जा रहे हैं. अगर आपकी उम्र भी 18 साल से अधिक है और आप टीका लगवाना चाहते हैं तो CoWin.in वेबसाइट पर जाकर या आरोग्य सेतू ऐप की मदद से आप ऐसा कर सकते हैं. इसके लिए बस आपको वोटर आईडी कार्ड या आधार कार्ड का नंबर देना होगा.