राज्यों द्वारा दिए गए अलग अलग सुझाव और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 18-44 वर्ष आयु वर्ग के टीकाकरण के लिए मील इनपुट के आधार पर, केंद्र सरकार ने अब ऑन-साइट रजिस्ट्रेशन और सहायक समूह पंजीकरण की सुविधा देने का निर्णय लिया है.

जानें वैक्सीन लगवाने के नए नियम

(i) ऑनलाइन स्लॉट के आयोजित सेशन के मामले में, अगर लोग वैक्सीन लेने नहीं आते और दिन के अंत में, कुछ डोज बचती है तो ऐसे मामलों में, टीके की बर्बादी को कम करने के लिए कुछ लाभार्थियों का साइट पर रजिस्ट्रेशन कर वैक्सीन दी जा सकती है.

(ii) CoWIN से एक मोबाइल नंबर के साथ 4 लाभार्थियों के पंजीकरण हो सकता है, आरोग्य सेतु और उमंग जैसे एप के माध्यम से पंजीकरण और अपॉइंटमेंट देता है. जिनके पास इंटरनेट या स्मार्ट फोन या मोबाइल फोन तक पहुंच नहीं है, उनके पास अभी भी टीकाकरण के लिए सीमित पहुंच हो सकती है. ये लोग cohort’s facility मिल सकती है.

Cowin पर 18 से 44 साल के लिए ऑन साइट रजिस्ट्रेशन और अपॉइंटमेंट शुरू कर दिया है.

ये सुविधा वर्तमान में केवल सरकारी COVID टीकाकरण केंद्रों (CVCs) के लिए ही है.

ये सुविधा वर्तमान में निजी कोविड वैक्सीन सेंटर के लिए उपलब्ध नहीं होगी, और निजी सीवीसी को अपने टीकाकरण कार्यक्रम को विशेष रूप से ऑनलाइन अपॉइंटमेंट के लिए स्लॉट के साथ प्रकाशित करना होगा.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 18 से 44 साल के आयु वर्ग के लिए ऑन-साइट रजिस्ट्रेशन और अपॉइंटमेंट सुविधा का इस्तेमाल करने की सीमा और तरीके के संबंध में  राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सरकार के निर्णय का सख्ती से पालन करने के लिए सभी जिला टीकाकरण अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश जारी करने की कहा है.

Cohort समूहों से संबंधित लाभार्थियों को टीकाकरण सेवाएं प्रदान करने के लिए पूरी तरह से स्पेशल सेशन भी आयोजित किए जा सकते हैं. जहां कहीं भी इस तरह के पूर्ण रिजर्व्ड सेशन आयोजित किए जाते हैं, ऐसे लाभार्थियों को पर्याप्त संख्या में जुटाने के लिए भी सभी प्रयास किए जाने चाहिए.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह दी है कि टीकाकरण केंद्रों पर भीड़भाड़ से बचने के लिए 18-44 वर्ष आयु वर्ग के लिए ऑन-साइट रजिस्ट्रेशन और अपॉइंटमेंट शुरू करते समय अत्यधिक सावधानी बरती जानी चाहिए क्योंकि ऐसे में भीड़ होने की संभावना है.