नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस संक्रमण के लिए बड़े पैमाने पर जांच की जा रही है। शुक्रवार को देश में कोरोना वायरस की रिकॉर्ड टेस्टिंग हुई, इसके साथ ही देश में कुल हुए कोरोना टेस्ट की संख्या सात करोड़ के पार पहुंच गई है। शुक्रवार को देश में कुल 13 लाख 41 हजार 535 टेस्ट किए गए। यह जानकारी भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने दी। ICMR ने बताया कि देश में 25 सितंबर तक कुल 7 करोड़ 2 लाख 69 हजार 975 टेस्ट हो चुके हैं।

इतनी बड़ी संख्या में कोरोना टेस्टिंग हो रही है तो जाहिर है कि पॉजिटिव केस भी ज्यादा ही मिलेंगे। लेकिन, दुनियाभर में कोरोना वायरस के एक बार फिर बढ़ते मामलों के बीच भारत में कुछ राहत है, देश में कोरोना वायरस के नए मामले जिस रफ्तार से आ रहे हैं उससे ज्यादा तेजी से लोग ठीक हो रहे हैं और यही वजह है कि देश के कुल कोरोना एक्टिव मामलों की संख्या लगातार कम हो रही है।

हालांकि, अभी भी देश में बहुत बड़ी संख्या में कोरोना के एक्टिव मामले हैं और रोजाना कोरोना की वजह से 1000 से ज्यादा लोग जान गंवा रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शनिवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक शुक्रवार सुबह 8 बजे से लेकर शनिवार सुबह 8 बजे तक देशभर में कोरोना वायरस के 85326 नए मामले सामने आए हैं और कुल कोरोना वायरस मामलों का आंकड़ा बढ़कर 59,03,896 तक पहुंच गया है।

कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की बात करें तो पिछले 24 घंटों के दौरान देशभर में कुल 93379 लोग ठीक हुए हैं और अबतक देशभर में कुल 48,49,548 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। देश में कोरोना वायरस का रिकवरी रेट 82.14 प्रतिशत तक पहुंच गया है। क्योंकि कोरोना से ठीक होने वाले लोग ज्यादा है और नए मामले कम ऐसे में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 960969 रह गई है। पिछले 8 दिनों में सिर्फ 1 दिन एक्टिव केस बढ़े हैं और बाकी 7 दिन इनमें कमी आई है।

लेकिन, सबसे ज्यादा चिंता की बात ये है कि कोरोना वायरस की वजह से जान गंवाने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटों में 1089 लोगों ने देशभर में कोरोना की वजह से जान गंवाई है। कोरोना वायरस अबतक देश में 93379 लोगों की मौत का कारण बन चुका है।