कोरोना वायरस का संकट अब एक बार फिर बेकाबू होता दिख रहा है. लगातार बढ़ते मामलों के बीच अब सख्त फैसलों का दौर फिर से शुरू हो गया है.

कोरोना वायरस का संकट अब एक बार फिर बेकाबू होता दिख रहा है. लगातार बढ़ते मामलों के बीच अब सख्त फैसलों का दौर फिर से शुरू हो गया है. शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के दुर्ग में टोटल लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है.

दुर्ग के कलेक्टर के मुताबिक, जिले में अब 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक पूरी तरह से लॉकडाउन लागू रहेगा. लॉकडाउन के वक्त जो नियम थे, उन्हीं नियमों का पालन किया जाएगा. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ये सख्त फैसला लिया गया है.

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के दुर्ग से पहले महाराष्ट्र के कई शहरों में लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है. वहीं मध्य प्रदेश में करीब आधा दर्जन से अधिक जिलों में हर रविवार को लॉकडाउन लगाया जा रहा है. साफ है कि कोरोना के बढ़ते मामले राज्य सरकारों की चिंता को बढ़ा रहे हैं. केंद्र सरकार ने भी राज्यों को कंटेनमेंट ज़ोन बनाने पर ध्यान देने को कहा है.

दिल्ली और मुंबई में बेकाबू रफ्तार!
आपको बता दें कि होली के बाद से ही महाराष्ट्र में तो कोरोना वायरस बेकाबू हो चला है. बीते दिन राज्य में करीब 43 हजार कोरोना के नए केस सामने आए. वहीं सिर्फ मुंबई में ही 8000 से अधिक मामले सामने आए हैं. बीते करीब दस दिनों से मुंबई में हर दिन 5000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं, जो हर दिन के साथ बढ़ते जा रहे हैं.

देश की राजधानी दिल्ली में भी बीते दिन 2700 से अधिक केस सामने आए, जो साल 2021 का सबसे बड़ा आंकड़ा है. दिल्ली में बढ़ते कोरोना के केस ने सरकार को सकते में ला दिया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस मसले पर शुक्रवार को बैठक करने वाले हैं, जिसमें कई फैसले लिए जा सकते हैं.