वाम मोर्चा के अध्यक्ष बिमान बोश ने रविवार को कहा कि हमारी पार्टी और कांग्रेस के साथ गठबंधन पर कोई कन्फूजन नहीं है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि दोनों दल पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में एक साथ लड़ेंगे. बोस ने यह भी आरोप लगाया है कि भाजपा और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) धार्मिक ध्रुवीकरण में शामिल हैं.

आपको बता दे की प्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा की पश्चिम बंगाल को धार्मिक ध्रुवीकरण से बचाने के लिए हम भाजपा और टीएमसी के खिलाफ एक साथ चुनाव लड़ेंगे. हमारे (कांग्रेस और वाम मोर्चा) के बीच कोई गलतफहमी नहीं है. हालांकि सीट बंटवारे पर चर्चा अभी बाकी है.

न्यूज एजेंसी एएनआई ने एक सूत्र के अनुसार बताया है की पार्टियों में शीर्ष नेतृत्व ने राज्य के नेतृत्व को जनवरी के अंत तक सीट-बंटवारे के फॉर्मूले को अंतिम रूप देने के लिए कहा है ताकि वे चुनावों के लिए उम्मीदवारों को चुनने के अगले स्तर पर काम कर सकें. कांग्रेस ने वाम दलों के साथ बातचीत के लिए राज्य के वरिष्ठ नेताओं की एक समिति बनाई है.

वही हम आपको बता दे की पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव इस साल के अंत में होने वाले हैं। इसको लेकर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी-अपनी तैयारी शुरू कर दी है. भारतीय जनता पार्टी यह चुनाव काफी आक्रामक तरीके से लड़ने जा रही है. इसके लिए बीजेपी अपनी पूरी तैयारियों में लगी है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा लगातार राज्य का दौरा कर रहे हैं. साथ ही पार्टी ने नेताओं की फौज ‘मिशन बंगाल’ के लिए उतारी है. बिहार चुनाव के बाद अब बीजेपी अपनी पूरी ताकत के साथ बंगाल चुनाव पर नजर लगाए बैठी है.