स्टूडेंट्स कर रहे परीक्षा रद्द करने का मांग

वहीं, परीक्षा में हो रही देरी और कोरोना बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कई स्टूडेंट्स बोर्ड से परीक्षा रद्द करने का निवेदन कर रहे है। ऑफिशियल नोटिफिकेशन के मुताबिक 12वीं के 87,651 स्टूडेंट्स और 10वीं के 1,50,198 स्टूडेंट्स को इस साल कंपार्टमेंट में रखा गया है। सीबीएसई का कहना है कि कंपार्टमेंट परीक्षा आयोजित नहीं करने से बड़ी संख्या में उम्मीदवारों का भविष्य प्रभावित होगा। ऐसे में CBSE गृह मंत्रालय द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन करके कम्पार्टमेंट परीक्षा आयोजित करेगा।

बिना परीक्षा जारी हुआ रिजल्ट

वहीं, इस बार कोरोना के कारण देशभर में होने वाली 10वीं-12वीं की बची परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया। दरअसल, बोर्ड ने एक जुलाई से 15 जुलाई के बीच इन परीक्षाओं को आयोजित करने का फैसला लिया था। लेकिन बोर्ड के फैसले के खिलाफ पैरेंट्स ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर परीक्षा रद्द करने की मांग की। जिसके बाद बोर्ड ने बिना परीक्षा कराए आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर जुलाई के पहले और दूसरे सप्ताह में रिजल्ट जारी कर दिया।