बारासात (पश्चिम बंगाल) से खबर आयी है की भाजपा (BJP) के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा की संशोधित नागरिकता कानून (CAA) अगले साल लागू हो सकता है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस की सरकार शरणार्थियों के प्रति हमदर्दी नहीं रखती है। उत्तर 24 परगना जिले में ”आर नोय अन्याय” (अन्याय और नहीं) अभियान से इतर उन्होंने पत्रकारों से कहा, ” हमें उम्मीद है कि सीएए के तहत शरणार्थियों को नागरिकता देने की प्रक्रिया अगले साल जनवरी से शुरू हो जाएगी.”

उन्होंने कहा, ”केंद्र सरकार ने सीएए को ईमानदार नीयत से पड़ोसी देशों से हमारे देश आए उत्पीड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए पारित किया था.” विजयवर्गीय की बात पर ध्यान देते हुए तृणमूल कांग्रेस के नेता और राज्य के मंत्री फरहाद हाकिम ने कहा कि बीजेपी पश्चिम बंगाल के नागरिको को मूर्ख बनाने में लगी हुई है।

सीएए में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से 31 दिसंबर 2014 से पहले भारत आ गए हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाई, जैन और पारसी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान है.