इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के नए टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ में पंतजलि के बाद ड्रीम-11, टाटा स्टील और एजुकेशनल टेक कंपनी अनअकेडमी भी शामिल हो गई हैं। चीन के साथ तनाव के कारण देशभर में चीनी कंपनियों का बायकॉट किया जा रहा है। इसी के चलते हाल ही में आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सर चीनी मोबाइल कंपनी वीवो को हटाया था। साथ ही बोर्ड ने नए स्पॉन्सरशिप के लिए आवेदन की आखिरी तारीख 14 अगस्त तय की थी।हालांकि, गौर करने वाली बात यह भी है कि ड्रीम-11 में भी चीन की एक कंपनी का पैसा लगा हुआ है। ड्रीम-11 में 4 इन्वेस्टर्स के 750 करोड़ रुपए लगे हुए हैं। इनमें चीन की टेनसेंट होल्डिंग्स और हॉन्ग कॉन्ग की स्टीडव्यू कैपिटल्स कंपनी भी शामिल है।