GST का फेक रजिस्ट्रेशन हासिल कर नकली फर्म बनाने वालो पर केंद्र सर्कार ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।
दो महीने में 1 लाख 63 हजार रजिस्ट्रेशन रद्द, चार सीए गिरफ्तार।

डायरेक्टरेट जनरल ऑफ़ GST इंटेलिजेंस और CGST ने GST नंबर का गलत इस्तेमाल करने वालो के खिलाफ पिछले एक महोईने से अभियान छेड़ रखा है।
इस अभियान के तहत 132 लोगो की गिरफ्तारी की गयी है जिनमे से 4 चार्टेड अकॉउंटेट है

जिन GSTIN ने 6 महीने तक GSTR -3B रिटर्न दाखिल नहीं किया था।
सरकारी सूत्रों के मुताबिक उन्हें पहले तो नोटिस दिया गया और उसके बाद उनका पंजीकरण यानी रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया।

जिन लोगो को 21 अगस्त 2020 से 16 नवंबर तक 750 डीम्ड रजिस्ट्रेशन जारी किये गए थे
और उनका आधार वेरिफिकेशन नहीं करवाया गया था।
इनमे से 55 रजिस्ट्रेशन में त्रुटियाँ पाई गयी है। इन मामलो में भी रजिस्ट्रेशन रद्द किया जा रहा है

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इन ऐजन्सीओ ने 4586 नकली GSTIN पर कार्रवाई की है और 1340 केस दर्ज किये है
ऐसा बताया गया है कि अक्षय जैन नाम के चार्टर्ड अकॉउंटेट को विशाकपटनम से गिरफ्तार किया गया है।

14 नकली फर्म बनवाकर 20.97 करोड़ रुपये का सर्टिफिकेट जारी करने का आरोप है इस शख्स पर।
इस मामले में जांच जारी है।