उद्योगपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो ने वोडाफोन आइडिया और भारतीय एयरटेल के खिलाफ किसान आंदोलन की आड़ में उनके खिलाफ झूठे प्रचार का आरोप लगाया है रिलायंस जियो ने इस संबंध में भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) से शिकायत की है और इन टेलीकॉम कंपनियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने की मांग की है रिलायंस जियो ने आरोप लगाया कि प्रतिदंविदी कंपनियां यह अफवाह फैला रही हैं कि नए कृषि कानूनों से रिलायंस जियो को फायदा होगा।

रिलायंस जियो ने इस संबंध में भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) से शिकायत की है और इन टेलीकॉम कंपनियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने की मांग की है।

ट्राई को 11 दिसंबर को लिखे पत्र में जियो ने आरोप लगाया है कि, “बड़ी संख्या में पोर्ट कराने का अनुरोध मिल रहा है, जहां कस्टमर इसे ही अकेली वजह बता रहे हैं. इन कस्टमर्स को जियो की सेवा से कोई सिकवा-शिकायत या दिक्कत नहीं है.” ट्राई को लिखे पत्र में रिलायंस जियो ने कहा है कि उन्होंने 28 सितंबर को भी इसकी शिकायत की थी, लेकिन फिर भी कंपनियों पर कोई असर नहीं हुआ. रिलायंस जियो का आरोप है कि एयरटेल और वोडाफोन आइडिया अनैतिक तरीके से देश के उत्तरी हिस्सों में किसानों के आंदोलन को भुनाने की कोशिश
कर रही है।

वोडाफोन आइडिया ने रिलायंस जियो के आरोप को खारिज किया है. कंपनी ने कहा है कि वह नैतिकता के साथ अपना काम करती है. कंपनी ने कहा, ‘ये हमारी प्रतिष्ठा को धूमिल करने के लिए हमारे खिलाफ निराधार आरोप हैं. हम इस तरह की गैरजिम्मेदाराना टिप्पणियों का मजबूती से खंडन करते है।

जियो की शिकायत पर प्रतिक्रिया देते हुए Airtel ने कहा कि उसे इसकी जानकारी मीडिया के माध्यम से मिली है. जारी बयान में एयरटेल ने कहा, ‘कुछ प्रतिदंविदियों की ओर से उकसाए जाने के बावजूद, जिन्हें हम जानते हैं कि वो निराधार आरोप लगाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं, कैसी भी रणनीति अपना सकते हैं और डराएंगे-धमकाएंगे, हमने हमेशा पारदर्शिता के साथ कुछ ऐसा काम किया है जिस पर हमें गर्व है.।