वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सोमवार को संसद में देश का केंद्रीय बजट पेश कर रही हैं. कोरोनावायरस और किसान आंदोलन के बीच आ रहे बजट पर पूरे देश की नजर है. कोरोनावायरस के बाद उबर रही अर्थव्यवस्था को लेकर सरकार क्या रुख अपनाती है, इसपर देश की दशा-दिशा तय होगी. ऐसे में इस बार यह बजट कई मायनों में अहम है.

* वायुप्रदूषण से निबटने के लिए 2000 करोड़ का पैकेज

* कोविड वैक्सीन के लिए इस साल 35 हजार करोड़ का आवंटन

* स्वास्थ्य के लिए 2.23 हजार करोड़ से ऊपर का आवंटन

निर्मला सीतारमण अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही.फिलहाल बड़े स्तर पर अर्थशास्त्रियों की आम राय है कि वित्त वर्ष 2020-21 में देश की अर्थव्यवस्था में सात से आठ प्रतिशत की गिरावट आने वाली है. यदि ऐसा होता है तो यह विकासशील देशों के बीच सबसे खराब प्रदर्शन में से एक होगा.