बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी इनदिनों परेशान हैं. मांझी की परेशानी का कारण कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं, बल्कि ‘ब्लू टिक’ है. दरसअल, मांझी बीते कुछ महीनों से लगातार अपना ट्विटर अकाउंट वेरिफाई करने की ट्विटर इंडिया से गुहार लगा रहे हैं. लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है. इसी क्रम में जीतन राम मांझी ने बुधवार को फिर एक बार ट्वीट कर उनका अकाउंट वेरिफाई करने की मांग की है.

मांझी ने ट्वीट कर कही ये बात

मांझी ने बुधवार को ट्विटर इंडिया को टैग करते हुए ट्वीट कर लिखा, ” मैं बिहार का पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा का संस्थापक हूं. मेरा अनुरोध है कि मेरे ट्विटर अकाउंट को वेरिफाइ किया जाए, साथ ही उसे ब्लू बैज प्रदान किया जाए. ऐसा नहीं होने की वजह से मेरे अकाउंट की विश्वसनीयता घट रही है. चूंकि कई लोग मेरे नाम से फेक ट्विटर हैंडल चला रहे हैं.”

मालूम हो कि बीते कुछ महीनों से मांझी ट्विटर पर काफी एक्टिव हो गए हैं. मुख्यमंत्री की तारीफ करने से लेकर विपक्ष पर निशाना साधने तक मांझी ट्वीट करने का मौका नहीं छोड़ते. अपनी बातों को ट्वीट के माध्यम से जनता के बीच रखते हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी पर साधा था निशाना

बीते दिनों उन्होंने ट्वीट कर वैक्सीनेशन की सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री की फ़ोटो होने पर आपत्ति जताई थी. उन्होंने ट्वीट कर लिखा था,  ” को-वैक्सीन की दूसरी डोज के बाद मुझे प्रमाण-पत्र दिया गया, जिसमें प्रधानमंत्री की तस्वीर लगी है. देश में संवैधानिक संस्थाओं के सर्वेसर्वा राष्ट्रपति हैं इस नाते उसमें राष्ट्रपति की तस्वीर होनी चाहिए, वैसे तस्वीर ही लगानी है तो राष्ट्रपति के अलावा पीएम और स्थानीय सीएम की भी तस्वीर हो.”