बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने ‘जन रसोई’ कैंटीन का शुभारंभ करदिया है। यह कैंटीन पूर्वी दिल्ली में गौतम गंभीर के संसदीय क्षेत्र में ज़रूरतमंदो को एक रूपए में दोपहर का भोजन प्रदान करेगा।

गौतम गंभीर के कार्यालय ने बताया की भारतीय क्रिकेटर बने पॉलिटिशिय गौतम गंभीर, भारत में पहली बार ऐसी रसोई का आगमन कर रहे हैं। ‘जन रसोई’ की पहली कैंटीन गुरवार को गांधी नगर में खुली है और इसके बाद दूसरी कैंटीन अशोक नगर में खुली है। गौतम गंभीर ने कहा, “मैंने हमेशा महसूस किया है कि हर किसी को जाति, पंथ, धर्म या वित्तीय स्थिति के बावजूद स्वस्थ और स्वच्छ भोजन का अधिकार है। बेघर और निराश्रितों को एक दिन में दो वर्ग का भोजन भी न मिलना दुखद है।”

गौतम गंभीर ने पूर्वी दिल्ली के 10 विधानसभा क्षेत्रों में से प्रत्येक में कम से कम एक ‘जन रसोई’ कैंटीन खोलने की योजना बनाई है।उनके कार्यालय के एक बयान के अनुसार, गांधी नगर में देश के सबसे बड़े थोक कपड़ा बाजारों में ‘जन रसोई’ एक पूर्ण आधुनिक कैंटीन होगी, जो सिर्फ 1 रुपये में लोगों को दोपहर का भोजन उपलब्ध कराएगी।

इसमें कहा गया है कि एक समय में 100 लोगों को बैठने की क्षमता होगी लेकिन कोविद -19 महामारी के कारण वर्तमान में केवल 50 लोगों को ही अनुमति दी जाएगी। दोपहर के भोजन में चावल, दाल और सब्जी शामिल होगी। इस परियोजना को गौतम गंभीर फाउंडेशन और सांसद के निजी संसाधनों द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है और इसका कोई सरकारी समर्थन नहीं है।

गंभीर ने कहा कि कुछ राज्य कैंटीन चलाते हैं जो जरूरतमंदों को रियायती भोजन देते हैं लेकिन राष्ट्रीय राजधानी में ऐसी कोई सुविधा नहीं है जहां कम कीमत का अच्छा खाना लोगों को उपलब्ध कराया जाता है। “लॉकडाउन के दौरान भी, हमने हजारों प्रवासी मजदूरों को भोजन और अन्य बुनियादी संसाधनों की कमी के कारण शहर छोड़ने के लिए मजबूर किया।” बीजेपी MP गौतम गंभीर का सूचना है की दिल्ली के हर ज़रूरतमंद व्यक्ति को अच्छा भोजन मिलना उसका जन्मसिद्ध अधिकार है।