पटना : बिहार में तीसरे चरण के प्रचार-प्रसार अब अंतिम पड़ाव पर है. इस दौरान नेता ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं. वहीं, उपेंद्र कुशवाहा ने भी पूर्वी चंपारण में भी रैली किया. ढाका विधान सभा घोड़ासहन में जनसभा करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री और आरएलएसपी चीफ ने कहा कि बिहार के लोगों ने परिवर्तन का मन बना लिया है।

आरएलएसपी अध्यक्ष ने कहा, ‘तेजस्वी कहते हैं सबको साथ लेकर चलेंगे. लेकिन जब समय आया तो ‘भूराबाल’ साफ करेंगे कह रहे थे. सब साथ लेकर चलने का था तो महागठबंधन के और साथी को अलग क्यों किया?’ उन्होंने कहा,’अल्पसंख्यक, दलित, पिछड़ी, अगड़ी जात के जो गरीब हैं, उनमें से चार डिप्टी सीएम बनाएंगे और उसमें एक महिला शामिल होगी।

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा, ‘तेजस्वी यादव कह रहे है 10 लाख को नौकरी देंगे. क्या उससे बेरोजगारी हट जाएगा. सच बात है कि नौकरी नही देंगे अब मुंह लपलपा रहे हैं. आरजेडी और बीजेपी के लोग कव्वाली कर रहे हैं. एक 10 लाख नौकरी कह रहा है तो दूसरा 19 लाख रोजगार देने की बात कह रहा है।

उन्होंने कहा, ’30 सालों में जिनका जीवन बर्बाद हुआ वह नहीं लौटेगा. 15-15 साल कम समय नहीं होता. अब मुझे 5 साल दीजिए और मैं विकास करूंगा. किसान के लिए न केंद्र सरकार कुछ कर रही है और न ही राज्य सरकार.’

कुशवाहा ने कहा कि गरीबों को न्याय मिलेगा. तेजस्वी पर हमला करते हुए कहा, ’15 साल पहले की सरकार वाले ‘युवराज’ कहते है कि नौकरी देंगे तो पहले सत्ता थी तो क्यों नहीं दिया. लालू यादव के समय अच्छी पढ़ाई रहती तो उनका बेटा 9वीं फेल नहीं होता. लेकिन करोड़ों का मालिक है. हम लोगों के बच्चे नहीं होते करोड़पति.’।