पटना: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा है कि ‘जंगलराज के युवराज’ को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के
भाषण और कामों से सीख लेनी चाहिए. सिर्फ लंबी-चौड़ी हांकने से कोई बड़ा नहीं हो जाता. शिक्षा तो पाई नहीं, अब कम-से- कम अनुभवी और अच्छे लोगों से तो सीखने का प्रयास करें।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि राजनीति जन सरोकार से चलती है न कि धन सरोकार से. लालटेन छाप लोगों ने 15 वर्षों तक बिहार में सिर्फ धन सरोकार की राजनीति की. धन के लिए बड़े-बड़े घोटाले किए. नौकरियां बेची और उससे भी मन नहीं भरा तो मोटी रकम लेकर धनबलियों को उच्च सदन का माननीय बनाया और, फिर चुनावों में पैसे देकर टिकट भी बेचे. ऐसे लोगों पर बिहार की जनता कैसे विश्वास कर सकती है, जिनके पास न धर्म है और न ही ईमान।

संजय जायसवाल ने कहा कि बिहार के लोग जानते हैं कि एनडीए सरकार ही बिहार का विकास कर सकती है, इसलिए इस चुनाव में बिहार की जनता एनडीए उम्मीदवारों के साथ खड़ी है. पहले चरण के चुनाव में स्थिति साफ हो गई है कि बिहार में एक बार फिर एनडीए की मजबूत सरकार बन रही है।

उन्होंने कहा कि ऐसे लोग समाज के साथ-साथ राजनीति को भी दूषित कर रहे हैं. बहरहाल जनता इनका खेल अच्छे से समझती है और इन चुनावों में भी इन्हें अच्छे से सबक सिखाने वाली है. डॉ. जायसवाल ने कहा कि बिहार को अभी समृद्धि की बुलंदियों को छूना बाकी है. एनडीए की सरकार में राज्य का तेजी से विकास हुआ है और फिर एनडीए की सरकार की विकास की रफ्तार को बनाए रखकर बिहार को समृद्धि की बुलंदियों तक पहुंचाएगी।

डॉक्टर जायसवाल ने कहा कि सिर्फ दुष्प्रचार और गुमराह करने वाले लोग सियासत में कुछ ही दिनों के मेहमान होते हैं. राजनीति में वही टिक सकता है, जिसकी नीति और नीयत दोनों अच्छी हो. जंगलराज के युवराज की न तो नीति अच्छी है और न ही नीयत. ऐसे लोग राजनीति में ‘आया राम गया राम’ की तरह होते हैं।

संजय जायसवाल ने कहा कि सिर्फ दुष्प्रचार और गुमराह करने वाले लोग सियासत में कुछ ही दिनों के मेहमान होते हैं. राजनीति में वही टिक सकता है, जिसकी नीति और नीयत दोनों अच्छी हो