इस बार बिहार चुनाव में अजीबोगरीब तरह की प्रचार देखने को मिल रही। कोई जेल भेजने की धमकी दे रहा तो कोई प्याज़ की माला पहन प्रचार कर रहे। बिहार में प्याज़ के दाम करीब 100 के पार पहुंच चुकी है। जनता खरीदने को बेबस दिख रही। तेजस्वी यादव भी जनता की दिक्क्तों को देखते हुए जनता के बिच प्याज़ की माला पहन उनसे मिलने पहुँच गए।

तेजस्वी ने कहा बीजेपी वाले महंगाई बढ़ने पर ये बीजेपी के लोग लोग प्याज का माला पहन कर घूमते थे, अब हम उन्हें प्याज़ की माला सौंप रहे। आगे कहा प्याज 100 रुपये के करीब पहुंचने वाला है। रोज़गार नहीं है, लोगों के खाने के लाले पड़े हैं. प्याज 50-60 रुपये किलो होने पर प्याज का रोना जो लोग रोते थे अब ये लोग कहां हैं, अब तो प्याज 80 के पार है. देशभर में गरीबों को पूछा नहीं जा रहा है, उन पर हमले किए जा रहे हैं।

सत्ताधारी पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा की बिहार में 60 घोटाले हुए हैं, जिसमें करीब 30,000 करोड़ के खजाने की सेंध मारी गई. आपदा की घड़ी में भी पैसे का कोई हिसाब नहीं मिला. भ्रष्टाचार काफी बढ़ा है, बिना घूस दिए कोई काम नहीं हो पाता. नीतीश जी ने एक परंपरा बना दी है कि एक भी काम बिना चढ़ावे के नहीं हो पाता।