बिहार विधानसभा चुनाव में तीनों चरण के चुनाव संपन्न होने के बाद एग्जिट पोल की राजनीति शुरू हो गई है. सभी दल और नेता अब एग्जिट पोल को लेकर मुस्तैद दिखने लगे हैं. तमाम एग्जिट पोल में महागठबंध की सरकार बनती नजर आ रही है. अब इसको लेकर हम प्रमुख जीतनराम मांझी ने एग्जिट पोल पर ही सवालिया निशान खड़े किए हैं।

वही, शाहपुर से CPI को चुनाव जीता हुआ दिखाया जा रहा है जबकि वहां CPI के प्रत्याशी ही नहीं है. घोषी से CPI को चुनाव जीता हुआ दिखाया जा रहा है जबकि वहां CPI के प्रत्याशी ही नहीं हैं. महागठबंधन की तरफ से उम्मीदवार का अता-पता तक नहीं है।

न्होंने कहा कि ऐसी कई सीटें हैं जिसको लेकर एग्जिट पोल में स्थिति साफ होती नजर नहीं आती. इसलिए हमें इस तरह के किसी पोल पर भरोसा ही नहीं है. हम जीतेंगे और नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनेगी, ये बात तय है।