बिहार विधानसभा चुनाव के एग्जिल पोल अगर 10 नवंबर को नतीजे में तब्दील होते हैं तो महागठबंधन की सरकार बनना तय है. ऐसे में सत्ता की कमान आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के हाथों में होगी. तेजस्वी के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही एक ही परिवार से राज्य का तीसरा सीएम बनने का गौरव हासिल हो जाएगा, जो कि बिहार में इकलौता और देश में दूसरा सियासी घराना होगा. आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव का परिवार कश्मीर के अब्दुल्ला फैमिली से तीन सदस्यों के सीएम बनने के रिकार्ड की बराबरी कर लेगा. हालांकि, देश में लालू का यह अनोखा परिवार होगा, जहां पिता, मां और बेटा तीनों ही मुख्यमंत्री बने हों.

एग्जिट पोल के अनुमान चुनावी नतीजों में बदलते हैं तो तेजस्वी यादव का सीएम बनना तय है. इस तरह से तेजस्वी यादव आरजेडी प्रमुख लालू के परिवार के तीसरे सदस्य होंगे, जो बिहार में मुख्यमंत्री की कुर्सी पर विराजमान होंगे. तेजस्वी यादव के सीएम की शपथ लेते ही बिहार की राजनीति ही नहीं बल्कि देश में यह अनोखा रिकॉर्ड बनाएंगे, जहां पिता, मां और बेटा तीन ही सीएम बने हों।

एग्जिट पोल के अनुमान चुनावी नतीजों में बदलते हैं तो तेजस्वी यादव का सीएम बनना तय है. इस तरह से तेजस्वी यादव आरजेडी प्रमुख लालू के परिवार के तीसरे सदस्य होंगे, जो बिहार में मुख्यमंत्री की कुर्सी पर विराजमान होंगे. तेजस्वी यादव के सीएम की शपथ लेते ही बिहार की राजनीति ही नहीं बल्कि देश में यह अनोखा रिकॉर्ड बनाएंगे, जहां पिता, मां और बेटा तीन ही सीएम बने

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बिहार में तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले महागठबंधन को राज्य के कुल 243 सीटों में से 139 से 161 सीटें मिलने की संभावना है जबकि नीतीश कुमार की अगुवाई वाले एनडीए को 69 से 91 सीटें मिल सकती हैं. यही नहीं बिहार के मुख्यमंत्री पद के लिए लोगों की पहली पसंद भी तेजस्वी यादव बनकर उभरे हैं, जिन्हें 44 फीसदी लोगों ने अपना समर्थन दिया है।